दलदल मय सडक में फंसी प्रसव पीड़िता, प्रसव पीड़ा से कराह रही थी लोग मूकदर्शक -Naugachia News

नवगछिया: कोसी पार कदवा दियारा इलाके में फोरलेन सरक नहीं बनने से दियारा इलाके के लोगों को घोर परेशानियों का सामना करना पर रहा है. बाढ़ के पानी से सड़क दलदली हो जाने के कारण सड़क पर पैदल आने जाने में भी परेशानी हो रही है . गुरुवार को लक्ष्मीनियां टोला कदवा निवसी जितेंद्र मंडल की पत्नी जया देवी प्रसव पीड़ा से पीड़ित थी

परिजन उसे प्रसव के लिए नवगछिया अनुमंडल अस्पताल ला रहे थे की मिलन चोक से आगे सिंगल दलडलीनुमा सड़क में उसकी गाड़ी फस गयी जिसके बाद घंटो प्रयास के बाद भी गारी नही निकल रही थी पीड़िता प्रसव पीड़ा से कराह रही थी  अंत में पीड़ा को देख परिजन के भी होश उरें हुए थे अंत में परिजनों ने ट्रक्टर चालक को 200 रुपया देकर फसी गारी को किसी तरह बैहार निकलवाया उसके बाद पीड़िता को अनुमंडल अस्पताल लाया गया . अनुमंडल अस्पताल रास्ते ही महियाल ने पुत्री को जन्म दिया.

 कदवा दियारा के आवाजाही के लिए मात्र एक रास्ता

नवगछिया अनुमंडल के कोसी पर कदवा दियारा जाने के लिए मिल्न चोक ठाकुरजी कचहरी टाल होते हुए कदवा जाने मात्र एक यही रास्ता है. जिससे कोसी दियारा के लोग आवाजाही करते है.  रास्ता दलदली नुमा होने की वजह उस होकर पैदल आना जाना भी मुश्किल हो जाता है. स्थानीय लोगों का कहना है कि कीचड़मय सरक में जहाँ आवाजाही में परेसानी होती है वहीं वाहनों के फस जाने के कारण ट्रेक्टर से खींचकर बैहार निकलने के नाम पर ह्मलोवों का आर्थिक सोसन बोटा है. वहीं कदवा दियारा निवासी माले नेता कामरेड रामदेव सिंह ने कहा कि 20फिट के आस पास सड़क दलदली है जिसपर सुर्खी मिटटी डालकर सरक को दुरुस्त किया जा सकता है उन्होंने  अनुमंडल प्रसासन से सड़क को आवाजाही बनाने की दिशा में पहल करने की अपील की है.

क्या कहते है अनुमंडल पदाधिकारी
नवगछिया अनुमंडल पदाधिकारिकडॉक्टर आदित्य प्रकाश ने कहा कि सडक मरम्मती दिशा में नवगछिया बीडीओ व सीओ को इस दिशा में पहल करने का निर्देश दिया गया है तत्काल सड़क पर मिट्टी डालकर उसे चलने लायक बनाने की व्यवस्था की जा रही है. उन्होंने बताया कि जिस सड़क से होकर आवाजाही हो रही है उसमें एक स्थानीय लोगों डॉव्र निजी जमीन होने की बात कही गयी है जिस कारण सड़क की मरामम्मति पूर्व में नहीं की जा सकी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *