अनुमंडल में गंगा-कोसी का तांडव दर्जनों गांवों के घरों में घुसने से मची अफरातफरी -Naugachia News

नवगछिया : अनुमंडल में गंगा-कोसी नदियों में आयी बाढ़ का पानी दर्जनों गांवों के घरों में घुसने से अफरातफरी मची है। खरीक के रतनपुरा में कोसी नदी के बाढ़ से सड़क कट जाने से रतनपुरा और मैरचा का सड़क संपर्क भंग हो गया है। ग्रामीण अमित सिंहा ने बताया कि बाढ़ से भवनपुरा जानेवाली सड़क कट जाने से लोग घरों में कैद रहने को विवश हैं। एक छोटी नाव की व्यवस्था की गयी है, जिसपर जान हथेली पर रखकर लोग आ-जा रहे हैं। श्रीपुर बांध को टूटने से बचाया कोसी नदी के किनारे स्थित श्रीपुर बांध को पदाधिकारियों द्वारा बचा लिया गया है।

बांध से पानी के रिसाव के बाद ग्रामीणों की सूचना पर एसडीओ डॉ. आदित्य प्रकाश के निर्देश पर सीओ उदय कृष्ण यादव ने कार्यपालक अभियंता एवं सहायक अभियंता ने कैम्प कर एनसी देकर बांध को टूटने से बचाया। छर्रा पट्टी सड़क पर बह रहा है पानी साहू परबत्ता के पास छर्रा पट्टी सड़क पर गंगा नदी के बाढ़ का पानी बहने की सूचना पर एसडीओ के निर्देश पर सीओ और कार्यपालक अभियंता स्थल पर जाकर बचाव की तैयारी कर रहे हैं। यहां सड़क कटने पर जगतपुर और गरेया पूरी तरह बाढ़ की चपेट में आ जाएगा।

मदरौनी-पूवारी टोला का सड़क संपर्क भांग कोसी नदी के बाढ़ का पानी मदरौनी पूवरी तोला जाने वाली सड़क पर आ जाने के कारण टोले का प्रखंड मुख्यालय से सड़क संपर्क भंग हो गया है। मुखिया अजित कुमार ने बताया कि घरों में पानी घुसने के बाद लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं। लोगों को काफी परेशानी हो रही है। वहीं नासी टोला के एक दर्जन घरों में पानी आ जाने के बाद लोग मचान बनाकर रह रहे हैं।

कुछ लोग विद्यालय की ऊपरी मंजिल पर तो कुछ लोग सड़क पर रह रहे हैं। रेल लाइन के किनारे रहने वाले सहौरा के विस्थापितों की बस्ती पूरी तरह जलमग्न हो गयी है। लोगों के सामने शुद्ध पेयजल, शौचालय सहित राहत साम्रग्री की समस्या उत्पन्न हो गयी है।

सधुआ चापर स्टेशन पीड़ितों का बना बसेरा सधुआ चापर रेलवे स्टेशन बाढ़ पीड़ितों का बसेरा बना हुआ है। यहां के विस्थापितों ने विद्यालय में शरण ले ली है। उच्च विद्यालय में भी बढ़ का पानी घुस आया है। बाढ़ पीड़ितों के बीच बंटी राहत सामग्री एसडीओ के निर्देश पर कोसकीपुर, सहौरा और कटरिया रेलवे स्टेशन पर रह रहे बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत सामग्री बांटी गयी। बीडीओ राजीव रंजन ने बताया कि कोसकीपुर एवं सहौरा के पीड़ितों के बीच 155 पैकेट और स्टेशन पर 145 पैकेट राहत सामग्री बांटी गयी। इसके अलावा पॉलीथिन सीट बांटे गए। सड़क किनारे चापाकल और शौचालय बनाये गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *