आधार कार्ड से जुड़ी सबसे बड़ी खबर, अभी पढ़ें वरना पछताएंगे

अगर आप भी आधार कार्ड बनवाने जा रहे है या फिर आपके पास पहले से है तो यह खबर आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

2b367f882386a332cd1bbddb3936e8c5

दरअसल आधार कार्ड बनाने वाली कई ऐजंसियां गैर कानूनी रूप से काम कर रही है। इसलिए सरकार ने चेतावनी जारी कर कहा है कि आधार प्लास्टिक कार्ड को लेकर अगर आप 50 से 200 रुपए देकर प्लास्टिक कार्ड बना रहे हैं तो सावधान हो जाएं।

यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI ) के मुताबिक कागज पर छपा आधार पूरी तरह वैध है। सरकार ने आधार कार्ड बनाने वाली एजेंसियां को लेकर चेतावनी जारी कर कहा है कि ऐसी जगहों से वह आधार नहीं बनवाएं। साथ ही गैरकानूनी रूप से एजेंसियों से लोगों के पर्सनल डाटा मिसयूज होने का भी डर है।

यूनीक आइडेंटिफिकेशन डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के CEO अजय भूषण पांडे के मुताबिक बहुत सी गैरकानूनी एजेंसियां देश में काम कर रही हैंं। जो आधार के लैमिनेशन से लेकर उसकी प्रिटिंग के लिए 50-200 रुपए तक चार्ज ले रही हैंं। जो कि पूरी तरह से गैर कानूनी है। इस मामले में यूआईडीएआई ने ऐसी एजेंसियों को अलर्ट भी जारी किया है।

अजय भूषण के मुताबिक सरकार लोगों को अलर्ट कर रही है कि वह ऐसी जगहों पर आधार की प्रिटिंग, लैमिनेशन या प्लास्टिक कार्ड न बनवाएं।

अगर ऐसी जगहों पर आप आधार के लिए अपने पर्सनल डाटा शेयर करते हैं तो उसका मिस यूज हो सकता है। इसके अलावा आधार नंबर को भी शेयर न करें, जिससे किसी तरह के नुकसान से बचा जा सके।

सरकार ऐसी एजेंसियों के खिलाफ सरकार क्रिमिनल केस भी चलाएगी। जिसके तहत इंडियन पीनल कोड और आधार एक्ट 2016 के प्रावधानों के अनुसार सजा भी दी जाएगी।

आधार यूजर को किसी भी काम के लिए लैमिनेशन और प्लास्टिक आधार वाले कार्ड की जरूरत नहीं पड़ती है।

वह अपने आधार को खुद ही https://eaadhaar.uidai.gov.in की वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड और प्रिंट कर सकता है।

इसके लिए किसी एजेंसी की जरूरत नहीं है। जो कि केवल एक सिंपल पेपर पर भी वैध है।

ऐसे में गैरकानूनी एजेंसियों के पास जाने की जरूरत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *