बाढ़ से तबाही: रेल पटरी धसने से कटिहार-मालदा रेलवे लाइन अवरुद्ध

बिहार में आई भीषण बाढ़ से अब तक 70 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। बिहार और नेपाल में हो रही तेज बारिश के कारण राज्य के 13 जिले बाढ़ की चपेट में हैं। प्रभावित जिलों में रेल व सड़क सम्पर्क सेवा बाधित हो गई है। बाढ़ के कारण अबतक सूबे में 74 लोगों की मौत हुई है। आपदा प्रबंधन विभाग ने 56 लोगों की मौत की पुष्टि की है। आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगे। इस बीच खबर आ रही है कि बुधवार को सालमारी, कटिहार, मोतिहारी और अररिया में बाढ़ का प्रकोप और बढ़ गया। कटिहार-मालदा रेलखंड मनिया गुमटी के पास रेल लाइन कट गई है।

दरअसल, बिहार से बंगाल को जोड़ने वाली सड़क टूट गई है। कटिहार- मालदा रूट पर मनिया स्टेशन के पास रेल पटरी धसने से अब एकमात्र मालदा रूट पर भी रेल सेवा की आस खत्म हो गई है। पश्चिम बंगाल के राधिकापुर एवं सिलीगुड़ी रेल रूट पहले से ही पूरी तरह बाधित है। बुधवार की सुबह शहर व आसपास के इलाके में हुई तेज बारिश के कारण मनिया स्टेशन के समीप किलोमीटर संख्या 5-6 पर रेल पटरी धंस गई| ट्रेकमेन द्वारा इसकी सूचना मनिया स्टेशन व कटिहार कंट्रोल को दी गई।

जिस पर मालदा से कटिहार की ओर आ रही हाटे बजारे एक्सप्रेस को रोककर पीछे वापस किया गया। वहीं बुधवार को बारसोई रूट पर चलने वाली एकमात्र कटिहार तेलता सवारी ट्रेन में भारी भीड़ रही| जिलाधिकारी मिथिलेश मिश्रा ,एसपी सिद्धार्थ मोहन जैन समेत बाढ़ राहत में शामिल टीम के सदस्य ट्रेन में सवार हुए। ट्रेन परिचालन ठप होने से स्टेशन पर अब भी बड़ी संख्या में यात्री समय काट रहे हैं। बुधवार को कटिहार जंक्शन से गुजरने वाली राजधानी, डिब्रुगढ़ चंडीगढ़, लोकमान्य तिलक गुवाहाटी, कैपिटल एक्सप्रेस ,गुवाहाटी जम्मू तवी ,नॉर्थ ईस्ट, सीमांचल, संपर्क क्रांति एक्सप्रेस आदि ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है |वरीय मंडल अभियंता राजवीर ने बताया कि मनिया स्टेशन के समीप पटरी धंसने की घटना के बाद तत्काल राहत दल को भेजकर उसे दुरूस्त करने का प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *