जिंदगी जीने के संघर्ष से जूझ रहे हैं बाढ़ पीड़ित, पानी थमने का नाम नहीं ले रहा-Naugachia News

खरीक : कोसी नदी में आई बाढ़ की विभीषिका से खरीक प्रखंड का सिहकुंड, लोकमनपुर ,भवनपुरा ,मैरचा, रतनपुरा, बिहपुर का कहारपुर, नवगछिया का कदवा ,ढोलबज्जा,कहारपुर बाजार समेट नवगछिया अनुमंडल का तकरीबन पचास हजार की आबादी प्रभावित हुई है. बाढ़ की विभीषिका भयावह रुप अख्तियार कर लिया है .

सिहकुंड के बाढ़ पीड़ितों के घर में तकरीबन कमर, छाती और गला भर तक बाढ़ का पानी फैल गया है .लोगों का जीवन जीना दुभर हो गया है.लोग अपने-अपने घरों को छोड़कर पलायन करने लगे हैं. बाढ़ पीड़ित परिवार ऊंचा स्थानों पर शरण लिए हुए है.अब बहुत ही कम ऐसे ऊंचे टीले बचे हुए हैं जहां पर हम लोग जीवन जी सकें.

कोसी में आई बार विकराल रूप अख्तियार कर लिया है .पानी थमने का नाम नहीं ले रहा है. जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. सैकड़ों एकड़ में लगी धान की फसल नष्ट हो गई घर में रखा अनाज बाढ़ में बहकर बर्वाद हो गया.बाढ़ पीड़ितों के बीचखाने को सुखा अनाज नही है. बाढ़ पीड़ित अपने-अपने घरों को छोड़कर सिहकुंड और लोकमानपुर के ऊंचे स्थलों पर शरण लिए हुए हैं.

बाढ़ का पानी नवगछिया की ओर बढ़ता जा रहा है. कदवा मिलन चौक के समीप शुक्रवार को भी नवगछिया मधेपुरा संपर्क पथ के ऊपर से बाढ़ का पानी ओवर फ्लो हो रहा है.दोनो तरफ वाहन फंसी हुई है. रेलवे लाइन के ठीक बगल मैं दर्जनों वाहन कीचड़ में फंसे हुए है. पैदल चलने वाले लोगों का भी जीवन मुश्किल हो गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *