क्या है 10 अप्रैल को ‘भारत बंद’ की हकीकत!

सोशल मीडिया ने एक बार फिर कमाल किया है। पिछले करीब एक हफ्ते से देशभर में सोशल मीडिया के जरिए 10 अप्रैल को भारत बंद की खबर खूब चर्चा में है।

एसएसपी मनु महाराज।

10 अप्रैल को भारत बंद करने का आह्वान सवर्णों की तरफ से किया गया बताया जा रहा है। इसके पीछे वजह है 2 अप्रैल 2018 को हुआ भारत बंद, जो SC-ST कानून पर सुप्रीम कोर्ट के दिए आदेश के बाद किया गया था। 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान जमकर हिंसा और तोड़फोड़ हुई। जिसमें कई लोगों की मौत हुई थी तो काफी लोग घायल भी हुए थे।
E
इसके बाद ही अगले दिन से ही यह खबर वायरल हो गई कि जब दलितों ने इतना बड़ा बंद किया है तो फिर सवर्णों को भी आगे आना चाहिए और 10 अप्रैल को भारत बंद करना चाहिए। इसमें सबसे मजेदार बात यह है कि इस बात की पुष्टि कोई नहीं कर रहा।

ईनाडु की टीम ने जब पटना के एसएसपी मनु महाराज से पूछा तो उन्होंने साफ कहा कि उन्हें इसकी कोई सरकारी जानकारी नहीं है। वहीं पटना के कुछ स्कूलों जैसे डीएवी, सेंट जोसेफ कॉन्वेंट और मेरी वार्ड समेत कई स्कूलों ने एहतियातन 10 अप्रैल को स्कूल बंद रखा है।

इस बंद की पुष्टि कोई नहीं कर रहा और इसे सिर्फ सोशल मीडिया पर फैलाया हुआ एक वायरल खबर माना जा रहा है। ईनाडु इंडिया इस खबर की पुष्टि नहीं करता और जैसा कि हमने बताया कि पटना के सीनियर एसपी ने भी 10 अप्रैल को भारत बंद की पुष्टि नहीं की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......