शिक्षकों के नियोजन के लिए नये सिरे से तय होगी काउंसेलिंग की प्रक्रिया, बनी कमेटी

पटना. शिक्षकों के नियोजन के लिए काउंसेलिंग की प्रक्रिया नये सिरे से तय की जा रही है. इस संदर्भ में कमेटी गठित कर दी गयी है. निर्धारित की जा रही काउंसेलिंग की प्रक्रिया संभवत: सभी तरह के शिक्षकों के नियोजन के लिए होगी.

नये सिरे से तय की जा रही इस प्रक्रिया के आधार पर ही प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन की काउंसेलिंग प्रक्रिया पूरी की जायेगी. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक शिक्षा विभाग ने नये सिरे से काउंसेलिंग प्रक्रिया या प्रोसीजर को तय करने के लिए विशेषज्ञों की समिति गठित की है.

यह कमेटी इसी माह कभी भी अपनी रिपोर्ट दे देगी. दरअसल विभाग चाहता है कि शिक्षकों के नियोजन के लिए काउंसेलिंग प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी होना चाहिए. दरअसल वर्तमान प्रक्रिया में काउंसेलिंग की प्रक्रिया में कई जगह पारदर्शिता का अभाव है. जिसको लेकर अक्सर सवाल उठते रहे हैं.

खासतौर पर पंचायती राज की नियोजन इकाइयों के रवैये को लेकर शिक्षा विभाग काफी आशंकित है. पिछली बार के नियोजन में काउंसेलिंग और दस्तावेजों में की गयी हेरफेर के हजारों उदाहरण सामने हैं.

प्रोसीजर तय करने के लिए चल रही इस कवायद की पुष्टि शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने की है. उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 90 हजार से अधिक प्राथमिक शिक्षकों की नियोजन प्रक्रिया काउंसेलिंग के अभाव में कई महीनों से अटकी हुई है.

पिछले दिनों मुख्यमंत्री ने अटकी हुई नियोजन प्रक्रिया को पारदर्शिता पूर्ण तरीके से पूरा करने के लिए दिशा निर्देश जारी किये थे. उन्हीं के दिशा निर्देश पर शिक्षा विभाग ने नये सिरे से काउंसेलिंग प्रक्रिया तय करने के लिए कवायद शुरू की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *