विक्रमशिला पुल: एंबुलेंस छह घंटे फंसी रही पुल पर, रोता बेटा लगाता रहा गुहार, कोई तो जाम हटाओ, मुझे पिता का शव लेकर जाना है

भागलपुर : सिलीगुड़ी से अपने पिता का शव एंबुलेंस पर लेकर लौट रहा बेटा रोते रोते लोगों से गुहार लगा रहा था- कोई तो जाम हटाओ, मेरे पिता का शव घर पहुंचाओ. इनकी कोई सुनने वाला नहीं था.

इस बीच पुल पर एक साथ तीन कतार में वाहन और लग गये. इतनी जगह नहीं थी की कोई पैदल भी यहां से बाहर निकल सके. वाहन चालक लगातार आगे जाने के प्रयास और ओवरटेकिंग कर जाम लगा रहा था. लेकिन पुल पर कोई पुलिस का जवान भी नहीं था. शव के साथ जाम के बीच फंसे लोगों के साथ कई और लोग थे. कई बरात भी जाम में फंस गया था. पुल पर ट्रक के खराब हो जाने के कारण देर रात तक वाहन चालक पुल पर फंसे रहे. रात में ट्रक को हटाने का साधन भी नहीं मिला. लोग परेशान रहे.

शाम पांच बजे लगा जाम गाेराडीह में खराब ट्रक बना कारण: जीरोमाइल थाना प्रभारी ने बताया गोराडीह के समीप एक ट्रक दोपहर में खराब हो गया था. इससे धीरे-धीरे वाहनों की कतार लग गयी. एक तरफ का रास्ता बंद होने से वाहनों को आगे ले जाने में भी परेशानी होने के बाद जाम लग गया. दूसरी और टीओपी थाना प्रभारी शाम बताते हैं कि जाम लग गया है. इसे खत्म करने के लिए पुलिस जवान लगे हैं. इसके बाद जब थाना प्रभारी को रात साढ़े दस बजे कई बार फोन किया गया. लेकिन लगातार रिंग होने के बाद भी फोन रिसीव नहीं हुआ.

सुबह बनता है नियम रात को सब फेल
विक्रमशिला पुल पर जाम की समस्या स्थायी हो गयी है. अधिकारियों की लंबी-लंबी प्लानिंग रात होते ही ट्रक के सामने दम तोड़ जा रही है. लापरवाही का आलम यह है कि पुल पर पुलिस का कोई जवान तक नहीं दिखता है. बुधवार शाम पांच बजे से एक बार फिर से पुल पर जाम लग गया. रात 11 बजे तक स्थिति काफी विकट थी. आलम यह था कि वाहन के अंदर बच्चे रो रहे थे.

पुल पर बनी तीन कतार हर कोई था परेशान
नवगछिया-जीरोमाइल से वाहनों की लंबी कतार लग गयी. धीरे धीरे विक्रमशिला पुल से होकर जीरोमाइल थाना के आगे तक जाम पहुंच गया. छोटे-छोटे हजारों वाहन फंसे थे. इसके अलावा बस अलग से. इससे यहां से वाहनों का चार कतार लग गयी. पुल पर यह कतार तीन हो गयी. पुल पर इतनी जगह नहीं थी कि पैदल भी रास्ता आराम से पार कर सकें. जाम में फंसे सदर अस्पताल के हेल्थ मैनेजर जावेद मंजूर ने बताया कि शाम में पांच बजे से पुल पर वाहन के साथ हैं.

भूख प्यास को मिटाने का भी कोई सहारा नहीं है. इतनी जगह भी नहीं है कि वाहन को कहीं खड़ा कर पानी भी पी सकें. वहीं यात्री मनोरंजन यादव ने बताया कि परिवार के साथ कटिहार जा रहे हैं. तीन बजे से पुल पर जाम में फंसे हैं. रात के ग्यारह बज गये हैं. कोई भी पुलिस वाले जाम हटाते नहीं दिखा. नवगछिया से पैदल भागलपुर आ रहे संजय साह ने बताया कि पुलिस वसूली में लगी रहती है तो जाम कैसे खत्म हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......