भागलपुर : क्राइम ब्रांच और बैंक अधिकारी बन लोगों को ठगने वाला धराया, पब्लिक ने जमकर पीटा

भागलपुर जिले के मोजाहिदपुर थाना क्षेत्र के मिरजानहाट मदनुचक में क्राइम ब्रांच का अधिकारी और कुछ ही देर बाद खुद को बंधन बैंक का पदाधिकारी कहने वाले ठग को लोगों ने पकड़ लिया। वह बंधन बैंक से जुड़े स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को धमकाने और उनसे पैसे ठगने के लिए पहुंचा था। फर्जी अधिकारी बन वहां पहुंचने वाले शख्स का नाम रघुनंदन रजक है और वह काजीचक का रहने वाला है। पकड़े जाने के बाद लोगों ने उसकी पिटाई तक पुलिस के हवाले कर दिया। मामले में मदनुचक के रहने वाले अनिल साह के बयान पर उसके खिलाफ मोजाहिदपुर थाने में केस दर्ज किया गया है।

पासबुक का फोटो लेकर बोला- बंधन बैंक से पैसे दिला सकता हूं:

महिलाओं का कहना है कि वह शख्स सुबह मोहल्ले में पहुंचा। समूह से जुड़ी महिलाओं से पासबुक दिखाने को कहा और उसका फोटो लेने लगा। पूछे जाने पर उसने पहले बताया कि वह क्राइम ब्रांच से है। जब लोगों ने पूछा कि क्राइम ब्रांच वाले का वहां क्या काम तब बोला कि वह बंधन बैंक का पदाधिकारी है और वह उन महिलाओं को बैंक से पैसे दिला सकता है। इसके एवज में वह 50 हजार रुपये की मांग भी करने लगा।

अनिल का कहना है कि उसी दौरान उनका भतीजा मिथिलेश, राजकुमार और पवन कुमार साह पहुंच गये। बंधन बैंक का पदाधिकारी होने की बात सुन उनके भतीजे ने बंधन बैंक के पदाधिकारी को कॉल कर बुला लिया। वहां पहुंचने पर बंधन बैंक के पदाधिकारी ने उस शख्स को पहचानने से इंकार कर दिया और उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की सलाह दी।

पहले भी डीलरों को धमकाकर पैसे मांग चुका है

हंगामे के दौरान ही वहां पर सिकंदरपुर का रहने वाला पिंटू दास भी पहुंच गया। उसने शख्स की पहचान रघुनंदन कुमार रजक काजीचक निवासी के रूप में की। पिंटू ने बताया कि तीन-चार दिन पहले रघुनंदन ने उसके घर पर आकर धमकी दी थी कि तुम डीलर हो और अनाज इधर उधर करते हो। 50 हजार दो नहीं तो तुम्हें फंसा देंगे। पकड़े गये शख्स के आईडी कार्ड में उसका नाम रघुनंदन रजक ही है। उसमें देलही क्राइम ब्रांच और भ्रष्टाचार विरोधी मोर्चा लिखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चोर चोर चोर.. कॉपी कर रहा है