December 7, 2021

Naugachia News

THE SOUL OF THE CITY

बिहार में मिलीं उज्बेकिस्तान की तीन युवतियां, टेम्‍पो में बैठी.. 900 रुपये में चली आयी भारत

बिहार के अररिया में उज्बेकिस्तान की तीन युवतियों को पुलिस ने पकड़ा। उसने मात्र नौ सौ रुपये खर्च कर भारत में प्रवेश कर लिया। कहा यह जा रहा है कि इसमें से एक लड़की को फेसबुक से यहां के एक युवक से उसे प्‍यार हो गया था। वह अपने प्रेमी को पाने के लिए अन्‍य दो लड़कियों के साथ भारत आ गई। भारतीय सीमा में प्रवेश किया और बिहार के अर‍र‍िया में अपने प्रेमी से मिलने पहुंची। पुलिस ने तीनों लड़कियों को दो युवक के साथ पकड़ लिया।

जानकारी के अनुसार, एसएसबी 56वीं वाहिनी के पथरदेवा बीओपी के जवानों ने बुधवार की देर शाम नेपाल के रास्ते भारतीय सीमा क्षेत्र में प्रवेश कर रहे दो संदिग्ध युवकों के साथ तीन विदेशी युवतियों को पकड़ा था। पकड़ी गयी तीनों युवती के पास से बरामद पासपोर्ट के अनुसार वह उज्बेकिस्तान के काशकाडारिया क्षेत्र की रहने वाली हैं। दोनों युवक अररिया के नरपतगंज प्रखंड के बसमतिया का रहने वाला है। पकड़ाई तीन युवतियों में से दो सगी बहनें बतायी जा रही है। एक का नाम डायना युसुपोवा, पिता का नाम रावशान कीजि आयु 18 वर्ष, दूसरे का नाम इनोबाट राजबोवा, पिता सुन्नाटूल्ला कीजि आयु 20 वर्ष तथा तीसरे का नाम इसमिगुल राजाबोवा, पिता सुन्नाटूल्ला कीजि आयु 22 वर्ष है। इनमें से इनोबाट एवं इसमिगुल राजबोवा के पिता का नाम एक ही है, जिससे यह प्रतीत होता है कि दोनों आपस में सगी बहनें है।


पकड़े गए दोनों युवक में से एक का नाम मो इस्माइल पिता राजुल अंसारी है वार्ड संख्य 02 बसमतिया बाजार तथा दूसरे का नाम सरोज कुमार साह पिता- उमेश साह वार्ड नंबर 08 बसमतिया है। कहा यह जा रहा है नेपाल के रास्ते तीनों युवती साहेबगंज बार्डर होते हुए भारतीय सीमाक्षेत्र में बिना किसी अनुमति एवं बिना वैध कागजात के प्रवेश कर गयी। साहेबगंज बार्डर से 900 रुपये में दोनों युवक ने भारत में प्रवेश करा लिया। पहले से वहां एक टेम्‍पो था। उसी पार बैठकर पांचों निकल पड़े। पथरदेवा बीओपी के सामने आटो चेकिंग के समय पूछताछ एवं जांच-पड़ताल में संदिग्ध पाए जाने पर इन पांचों को एसएसबी द्वारा रोक कर छानबीन की जानी शुरू कर दी गयी। गौरतलब है कि पकड़ी गई तीनों युवतियों के पासपोर्ट महज एक महीना पूर्व सितंबर 2021 में ही जारी किया हुआ है। वहीं, तीनों के पास से नेपाल का एक टूरिस्ट वीजा पास मिला है जो 21 अक्टूबर का है।

इधर पकड़े गए दोनों युवकों के साथ तीनों युवतियों को एसएसबी के आवश्यक कार्रवाई उपरांत बथनाहा पुलिस के सुपुर्द कर दिया। एक साथ तीन विदेशी युवतियों के भारत में अवैध रूप से प्रवेश करने की सूचना से सीमा क्षेत्र में कार्यरत तमाम एजंसियां चौकस हो गयी है। मामले में पुलिस के साथ स्पेशल क्राइम ब्रांच एवं इंटेलिजेंस ब्यूरो की टीम के लोग मामले को खंगालने में जुट गया है। इस संबंध में फारबिसगंज डीएसपी रामपुकार सिंह ने बताया कि पूछताछ की जा रही है। अभी तक कुछ स्पष्ट नहीं हो पाया है कि ये किस उद्देश्य से यहां आई है। इस संबंध में एसएसबी के कोई भी अधिकारी कुछ भी बताने से इन्कार कर रहे हैं।


बथनाहा थाने में फारबिसगंज डीएसपी रामपुकार सिंह पांचों से पूछताछ की। तीनों उज्बेकिस्तान की युवती समेत भारतीय दोनों युवक को न्यायिक हिरासत में अररिया जेल भेज दिया। एक युवती अस्थमा की मरीज थी। पुलिस कस्टडी में इसे अटैक भी आया। इनहेलर मंगाकर दिया गया। पुलिस हिरासत में तीनों युवती को कोई तनाव नहींं दिखा। तीनों आराम से वहां थीं। थाना परिसर में टहल रही थी। एक-दूसरे से बातें भी कर रही थी। तीनों ने नास्‍ता भी आराम किया। एसएसबी के अधिकारी उससे गूगल ट्रांसलेटर के माध्‍यम से कुछ पूछते व बातें करते थे। उज्बेकिस्तान की लड़कियों का नेपाल से होकर अररिया आना रहस्‍य बना रहा। नेपाल से भी इस मामले का तार जुड़ा हुआ है।

युवतियों के पास से बरामद पासपोर्ट इसी वर्ष  सितंबर का बना है। यह भी जांच का एक विषय है। गत सितंबर में उज्बेकिस्तान की ही नावरिजुम मारिजा नामक महिला जोगबनी के रास्ते भारत प्रवेश करते समय नेपाल पुलिस ने पकड़ी थी। कुछ माह पहले भी बीरपुर में एक महिला को पुलिस ने पकड़ा गया था। अबतक पकड़ी गयी सभी महिलाओं से नेपाल का टूरिस्ट वीजा बरामद हुआ है। पुल‍िस के अनुसार यह गर्ल्स ट्रैफिकिंग या देह व्‍यापार का ही मामला नजर आ रहा है। अररिया जिले के बसमतिया के कुछ लोगों को डिटेक्ट किया गया है। लोगों के मोबाइल का सीडीआर निकाल कर उसे खंगाला जा रहा है। इस रैकेट का तार दिल्ली से जुड़ा हुआ है।

चोर चोर चोर.. कॉपी कर रहा है