बिहार प्राथमिक शिक्षक नियोजन : दूसरे चरण की काउंसेलिंग दो से 13 अगस्त तक

पटना. छठे चरण के प्राथमिक शिक्षक नियोजन के लिए दूसरे चरण की काउंसेलिंग का संशोधित शेड्यूल जारी किया गया है. शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने इस संबंध में बुधवार को अधिसूचना जारी की. इसके मुताबिक नगर निकाय और प्रखंड नियोजन इकाइयों में काउंसेलिंग तीन-तीन दिन और पंचायत नियोजन इकाइयों में काउंसेलिंग केवल एक दिन रखी गयी है.

इस तरह सात दिन काउंसेलिंग आयोजित की जायेगी. सबसे पहले नगर निकायों में काउंसेलिंग दो, चार और पांच अगस्त को होगी. प्रखंड नियोजन इकाइयों में काउंसेलिंग सात, नौ एवं 10 अगस्त को प्रस्तावित है. इसके बाद पंचायत नियोजन इकाइयों में 13 अगस्त को काउंसेलिंग करायी जायेगी.

इस बार की काउंसेलिंग में सबसे अहम बात यह है कि वर्ग छह से आठ वर्ग के लिए सामाजिक विज्ञान की काउंसेलिंग के लिए एक पूरा दिन अलग से दिया गया है. इससे पहले घोषित काउंसेलिंग शेड्यूल के तहत केवल तीन दिन- दो, चार और नौ अगस्त को काउंसेलिंग निर्धारित थी.

दरअसल, पहले के घोषित शेड्यूल में वर्ग एक से पांच और छह से आठ वर्ग तक के लिए काउंसेलिंग तीनों नियोजन इकाइयों में एक-एक ही दिन रखी गयी थी. चूंकि अभ्यर्थियों की संख्या अधिक होने और कोविड प्रोटोकाल के मद्दनेजर पहले के शेड्यूल में संशोधित किया गया है. दूसरे चरण में करीब 65 हजार से अधिक पदों के लिए काउंसेलिंग की जानी है.
नगर निकाय

दो अगस्त : जिला मुख्यालय पर सामाजिक विज्ञान विषय में वर्ग छह से आठ के लिए काउंसेलिंग

चार अगस्त : जिला मुख्यालय पर गणित-विज्ञान व भाषा विषय में वर्ग छह से आठ के लिए काउंसेलिंग-

पांच अगस्त : जिला मुख्यालय पर ही वर्ग एक से पांच तक की काउंसेलिंग

प्रखंड नियोजन इकाई

सात अगस्त : जिला मुख्यालय पर सामाजिक विज्ञान विषय में वर्ग छह से आठ के लिए काउंसेलिंग

नौ अगस्त : जिला मुख्यालय पर गणित-विज्ञान एवं भाषा विषय में वर्ग छह से आठ के लिए काउंसेलिंग

10 अगस्त : जिला मुख्यालय पर ही वर्ग एक से पांच तक की काउंसेलिंग

काउंसेलिंग से जुड़े विशेष तथ्य

बिहार बोर्ड की तरफ से आयोजित डीएलएड ओडीएल परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थियों के लिए मूल अंकपत्र लाना अनिवार्य होगा.

निर्धारित समय सीमा में जिन नियोजन इकाई की तरफ से मेधा सूची जारी कर दी गयी है, उन नियोजन इकाइयों की तरफ से घोषित तिथि पर काउंसेलिंग करायी जायेगी.

प्रथम चक्र में जिन नियोजन इकाइयों की काउंसेलिंग प्रक्रिया पूरी नहीं हो पायी थी ,उनकी काउंसेलिंग उसी शर्त पर होगी कि वहां अंतिम मेधा सूची प्रकाशित हो गयी हो.

अंतिम मेधा सूची प्रकाशित होने की शर्त पर ही वहां भी काउंसेलिंग करायी जा सकेगी, जहां चयन सूची में गड़बड़ी पाये जाने पर काउंसेलिंग प्रक्रिया रद्द या स्थगित कर दी गयी थी.

जिन नियोजन इकाइयों में मेधा सूची का प्रकाशन नहीं हुआ है, या कोई और कठिनाई हो,वहां तृतीय चक्र में काउंसेलिंग करायी जायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चोर चोर चोर.. कॉपी कर रहा है