बिहार कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा को लेकर बड़ा ऐलान, कीजिये ये काम नहीं तो …

बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) से नौकरी की आस लगाए युवाओं के लिए राहत की खबर है। सरकार ने आयोग की नियमावली में संशोधन किया है। ऐसे में अब बीएसएससी भी ऑनलाइन परीक्षा ले सकता है। कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा लेनेवाला बीएसएससी पहला आयोग होगा। अभी राज्य में कोई भी चयन आयोग कंप्यूटर आधारित परीक्षा नहीं लेता है।

इस संशोधन के साथ बीएसएससी, आईबीपीएस और एसएससी के बराबर हो गया है। आयोग के चेयरमैन संजीव कुमार सिन्हा ने बताया कि देश में कई एजेंसियां कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा कराती हैं। अब वो भी किसी एजेंसी को कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा के लिए आउटसोर्स करेंगे। कंप्यूटर आधारित परीक्षा लेने में होगा सक्षम : बिहार कर्मचारी चयन आयोग परीक्षा संचालन नियमावली, 2010 के नियम-5 के 2 में संशोधन किया गया है। इसमें बताया गया है कि आयोग किसी भी परीक्षा के लिए कंप्यूटर आधारित किसी परीक्षा के संचालन हेतु निर्णय लेने के लिए स्वयं सक्षम होगा। अर्थात अब आयोग कलम-पेंसिल या कंप्यूटर आधारित दोनों तरीके से परीक्षा ले सकता है।

यह संशोधन सामान्य प्रशासन विभाग के 6 मार्च के आदेश से किया गया है। बड़ी परीक्षाएं कराने में होगी आसानी : कंप्यूटर आधारित परीक्षा न सिर्फ अभ्यर्थियों के लिए बल्कि बीएसएससी के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी राहत देनेवाला है। मानव और अन्य संसाधनों से जूझ रहा बीएसएससी अब बड़ी-बड़ी परीक्षाओं को आसानी से ले सकेगा। बता दें कि अभी तक इंटर स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा इसलिए अटकी हुई है कि इसमें 18 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी हैं। कॉपी-पेंसिल से परीक्षा लेने के लिए भारी मात्र व संख्या में संसाधन चाहिए, जो आयोग के पास नहीं है। ऐसे में यह संशोधन अभ्यर्थी व आयोग दोनों के लिए राहत बन कर आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......