नवगछिया : युवक की हत्या के विरोध में रोड पर उतरे लोग, पुलिस ने 4 आरोपियों को दबोचा

जमालदीपुर गांव के युवक विकास यादव की हत्या के बाद शुक्रवार को ग्रामीण और परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा और वे शव को सुबह 10:30 बजे 14 नंबर सड़क पर रख कर प्रदर्शन करने लगे। वे मुआवजा और हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। जाम की सूचना पर खरीक थानाध्यक्ष पंकज कुमार और बिहपुर थानाध्यक्ष दिनेश कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे अपनी मांगों पर अड़ रहे। इसके बाद एसडीपीओ दिलीप कुमार पहुंचे। उन्होंने लोगों को आश्वासन दिया कि पुलिस जल्द ही हमलावरों को गिरफ्तार करेगी और परिजनों को मुआवजा भी दिलाया जाएगा।

तब ढाई घंटे बाद दोपहर एक बजे जाम खत्म हुआ। इसके बाद युवक की पत्नी प्रियंका देवी ने बिहपुर थाना में चार नामजद सहित छह लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी बलराम मंडल, बिंदेश्वरी सिंह, मनीष कुमार और तारणी मंडल को गिरफ्तार कर लिया। सभी जमालदीपुर गांव के रहने वाले हैं। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया। बता दें कि गुरुवार की रात ब्रह्मदेव यादव के पुत्र विकास को हत्यारों ने पार्टी बहाने फोन कर घर से बुलाया था और गांव के बगीचे में उसे गोलियों से भून डाला था।

एसडीपीओ ने घटनास्थल का किया निरीक्षण, दो खोखे बरामद

जाम खत्म होने के बाद एसडीपीओ दिलीप कुमार खुद घटनास्थल पहुंचे और वहां बारिकी से जांच की। इस दौरान पुलिस जवानों ने घटनास्थल से दो खोखा भी बरामद किया। एसडीपीओ ने बताया कि घटनास्थल को देखने प्रतीक होता है कि वारदात से पहले सभी मिलकर खाना खाया था। इसके बाद युवक की हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार आरोपियों से पुलिस पूछताछ कर रही है। बचे दो आरोपी भी जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होंगे। पुलिस आशंका जता रही है कि विकास को रायफल से गोली मारी गई थी। हालांकि एसडीपीओ ने इस संबंध में कहा कि इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हो सकेगा। इधर, ग्रामीणों के बीच चर्चा है कि मछली पार्टी का आयोजन अपराधियों ने किया था।

पत्नी ने कहा-पुरानी रंजिश में हुई थी विकास की हत्या

पुलिस को दिए आवेदन में विकास की पत्नी प्रियंका देवी ने कहा है कि पति की हत्या पुरानी रंजिश में हुई थी। आरोपियों के साथ किसी बात को लेकर पति का पुराना विवाद चल रहा था। वहीं ग्रामीणों की मानें तो युवक की हत्या जमीन विवाद में हुई थी। लोगों का कहना है कि गांव के बिंदेश्वरी सिंह ने कुछ साल पहले तेलघी निवासी सुमन सिंह की जमीन खरीदने के लिए रुपए दिए थे। लेकिन पैसे लेने के बाद भी सुमन ने अब तक जमीन की रजिस्ट्री नहीं की है। बिंदेश्वरी सिंह के दबाव बनाने पर सुमन ने उस जमीन को विकास को बंटाई पर दे दिया। इस पर बिंदेश्वरी सिंह ने विकास को अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। पति की हत्या के बाद पत्नी प्रियंका देवी अपने तीनों बेटी के साथ शव से लिपटकर कह रही थी कि अब इनका परवरिश कौन करेगा। महिलाएं उसे सांत्वना दे रही थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *