नवगछिया : महिलाओं ने खोइंछा भर लिया आशीर्वाद मां शारदे को नम आंखों से दी गई विदाई

कोरोना को लेकर विसर्जन जुलूस में नहीं दिखा तामझाम, डीजे भी नहीं बजे.. विभिन्न प्रखंडों में स्थापित मां सरस्वती की प्रतिमाओं का बुधवार को विसर्जन किया गया। महिलाओं ने पूजा-अर्चना के बाद मां का खोइंछा भरकर आशीर्वाद लिया। इसके बाद विसर्जन जुलूस निकाला गया। युवाओं ने एक-दूसरे को गुलाल लगाए और जयकारे के साथ विसर्जन जुलूस निकाला। श्रद्धालुओं ने नम आंखों से मां को विदाई दी।

सभी प्रतिमाओं का विसर्जन पोखर और कृत्रिम तालाब में किया गया। हालांकि इस बार कोरोना को लेकर विसर्जन जुलूस में ताम-झाम नहीं दिखा। शांतिपूर्ण ढंग से विसर्जन किया गया। नवगछिया के वात्सल्य विद्या विहार में स्थापित मां सरस्वती की प्रतिमा का विसर्जन किया गया। विद्यालय के प्राचार्य सौरव कुमार झा व संस्थापक पूर्व वायु सैनिक संजय कुमार झा सहित कई बच्चे व अभिभावक मौजूद थे। वहीं सावित्री पब्लिक स्कूल एवं बाल भारती विद्यालय में स्थापित प्रतिमा का विसर्जन गोशाला परिसर स्थित पोखर में किया गया। सुल्तानगंज में स्थापित कुछ प्रतिमाओं का विसर्जन देर शाम तक पोखर व तालाबों में किया गया।

नारायणपुर व खरीक में भी प्रतिमाओं का हुआ विसर्जन

नारायणपुर/खरीक | नारायणपुर के सरकारी व गैर सरकारी शिक्षण संस्थान से बुधवार को विर्सजन जुलूस निकाला गया। नारायणपुर, बलहा, चकरामी, नगरपारा, भवानीपुर, आशाटोल, पहाड़पुर, रायपुर सहित अन्य गांवों में स्थापित प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। वहीं खरीक के मिरजाफरी, तेलघी, ध्रुवगंज, भवनपुरा, राघोपुर, खैरपुर में स्थापित प्रतिमा का विसर्जन कलबलिया धार व जलाशयों में किया गया। इस दौरान मैया के जयकारे से पूरा इलाका गूंज उठा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *