नवगछिया : मधेपुरा के युवक की गला घोंटकर कर हत्या के बाद अपराधियों ने शव को बोरे में बंद कर कोसी नदी में फेंका -Naugachia News

नवगछिया : मधेपुरा के युवक की गला घोंटकर कर हत्या के बाद अपराधियों ने शव को बोरे में बंद कर कोसी नदी में फेंक दिया। शुक्रवार को कदवा ओपी थाना क्षेत्र के ठाकुर जी कचहरी टोला बालू घाट के समीप कोसी नदी के मारा धार में प्लास्टिक के बोरे में बंद एक युवक का शव बरामद किया गया है। युवक कत्थई लाल टीशर्ट व दाएं हाथ में रिंग मठिया पहना हुआ श्यामले वर्ण का था।

नदी थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडल अस्पताल भेजकर पुलिस युवक के शिनाख्त में जुट गई। दोपहर बाद तक पुलिस ने युवक की शिनाख्त कर भी कर लिया। मृतक की पहचान मधेपुरा जिला के पुरैनी थाना क्षेत्र के पुरैनी बाजार निवासी स्व. मो. यूसुफ के पुत्र मो. चिंटू उर्फ मो. आसिफ 25 वर्ष के रूप में की गई है। सोशल मीडिया पर पुलिस ने शव को वायरल किया था।

प|ी ने पुरैनी थाने में दर्ज कराई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट
पति की मौत की सूचना पर रोती प|ी।
शव पर पड़ी स्थानीय किसानों की नजर

शुक्रवार की सुबह करीब 7:00 बजे कुछ स्थानीय किसानों की नजर जब उस शव पर पड़ी तो यह बात पूरे इलाके में फैल गई। शव को देखने हजारों लोगों की भीड़ वहां जमा हो गए। पर किसी ने भी शव को पहचानने से इंकार कर दिया। युवक की हत्या एक दिन पहले गला दबाकर किया गया है। उसके नाक से खून बह रहे थे। लाश मिलने की सूचना मिलते ही कदवा ओपी थानाध्यक्ष बीके राय ने दल-बल के साथ मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लिया। जिसे अनुमंडलीय अस्पताल नवगछिया में पोस्टमार्टम कराकर, शव नदी थानाध्यक्ष दिलीप कुमार को सुपुर्द कर दिया। नदी थानाध्यक्ष ने कहा कि युवक की हत्या कर शव को नदी में फेंका गया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। मृतक की प|ी का बयान लिया जा रहा है। मृतक की प|ी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

खाना खाने के दौरान आया था फोन, बाइक लेकर घर से निकला था चिंटू, तीन दिन बाद मिली लाश

नवगछिया। मृतक के परिजनों ने बताया कि चिंटू की लाश मिलने के बाद चौसा व पुरैनी थाने की मदद से जब इसकी सूचना मिली, लाश को देखकर पहचान किया। परिजनों ने बताया कि चिंटू सवारी वाहन चलता था। 27 मार्च को जब वह गाड़ी लेकर लौटा तो गाड़ी मालिक के घर दुर्गापुर में उसके घर पर गाड़ी खड़ीकर मालिक की बाइक लेकर घर आया। घर आने के बाद खाना खा रहा था कि इसी दौरान उसके मोबाइल पर किसी का फोन आया और उसे बुलाने लगा। इस दौरान कहा कि तुम लोग पहुंचों मैं भी आ रहा हूं। परिजनों ने कहा कि खाना खाने के दौरान लगातार तीन बार फोन आया। फोन आने के बाद वह जल्दी जल्दी खाना खाया और बाइक से निकल गया। घर से निकलने के बाद वह फिर वापस नहीं लौटा। तीन दिन बाद उसकी लाश मिली। चिंटू की मौत की खबर मिलते ही पूरे परिवार में कोहराम मच गया। चिंटू की दो पुत्रीं हैं।

गायब होने के एक दिन पूर्व चौसा के चालक से हुई थी मारपीट

मृतक चिंटू के परिजनों ने बताया कि चिंटू के लापता होने के एक दिन पूर्व पुरैनी बाजार में उनके साथ मारपीट हुई थी। परिजनों ने कहा कि गाड़ी रिजर्व के जाने को लेकर भाड़े के लेन-देन में चौसा के एक वाहन चालक से मारपीट की घटना हुई थी। मारपीट की घटना के बाद वह घर चला आया था। दूसरे दिन भी वह गाड़ी लेकर धारे पर गया हुआ था। वापस लौटने पर घर लौटा इसके बाद वह रात में घर से निकला तो वापस घर नहीं आया।

घटना की रात फोन कर बुलाने वाले को ढूंढ रही है पुलिस, खंगाल रही मोबाइल डिटेल

बोरी में शव बरामद होने के बाद नदी थाना की पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है। घटना की रात किस व्यक्ति ने चिंटू को फोन कर बुलाया था इसका पता लगा रही है। इसको लेकर उसका मोबाइल का कॉल डिटेल भी खंगाला जा रहा है। साथ ही पुलिस जिस चालक से चिंटू के भाड़े को लेकर मारपीट हुई थी वह चालक कौन है। नदी थानाध्यक्ष दिलीप कुमार ने कहा कि घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस हर बिंदू पर छानबीन कर रही है।

उसी रात ही हो गई थी चिंटू की हत्या

जिस रात चिंटू घर से निकला था उसी रात अपराधियों ने चिंटू की हत्या कर दी थी। कदवा के पास मारा धार से पुलिस ने जब शव को बरामद किया था। तो शव फुल चुका था और उस से बदबू भी आने लगी। शव को देखने से लग रहा था कि तीन दिन पहले ही उसकी हत्या की गई है।

अम्भो वासा से धनबासा जाने वाली सड़क पर मिली थी बाइक

मृतक युवक के परिजनों ने पुलिस को बताया कि खोजबीन के दौरान गुरुवार को पुरैनी के अंभो वासा से धनबासा जाने वाली सड़क के बगल में बौकू सिंह के बासा समीप जिस मोटरसाइकिल से वह घर से निकाला था उसे लावारिस रूप में दुर्गापुर निवासी गाड़ी मालिक को मिला था। बाइक बरामद होने के बाद से चिंतित थे।

रात नो बजे निकाला था घर से

मृतक की प|ी गुलशन खातून ने बताया है कि मो चिंटू 27 मार्च की रात 9:00 बजे खाना खा कर मोटरसाइकिल से निकाला था। सुबह तक वापस नहीं आने पर काफी खोजबीन किया, लेकिन पता नहीं चला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......