नवगछिया नगर पंचायत को नगर परिषद में प्रोन्नत किये जाने पर नवगछिया के लोगों ने खुशी

नगर परिषद बनने से नवगछिया काे विकास के लिए मिलेंगे ज्यादा पैसे

नवगछिया नगर पंचायत के नगर परिषद में बदलने से क्षेत्र के विकास के लिए ज्यादा पैसे अाएंगे। नगर विकास विभाग से मिलने वाले सालाना बजट डेढ़ कराेड़ रुपये से बढ़कर करीब दाे कराेड़ रुपया हाे जाएगा। वार्ड की संख्या भी 23 से बढ़कर 25 हाेने की उम्मीद है। तेतरी, पकरा व हरनाथचक टाेला इसमें शामिल हाेगा। जिले की चार पंचायत के नगर पंचायत में तब्दील हाेने से इन पंचायताें में इस बार यहां पंचायत चुनाव नहीं हाेगा। जगदीशपुर प्रखंड के हबीबपुर, सुल्तानगंज के अकबरनगर, पीरपैंती के महेशरामपुर व सबाैर पंचायत के नगर पंचायत बनने से यहां के वार्डाें का भी परिसीमन हाेगा।

नवगछिया नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी संजीव कुमार सुमन ने बताया कि नगर परिषद बनने के बाद वार्डाें का भी पुनर्गठन हाेगा। नियम है कि जिस शहरी इलाके की अाबादी 2011 की जनगणना के अनुसार 40 हजार से अधिक हाे उसे नगर परिषद में अपग्रेड कर दिया जाए। नगर पंचायत नवगछिया की अाबादी 2011 में ही करीब 49 हजार थी। नाै साल पहले ही नवगछिया काे नगर पंचायत से अपग्रेड कर नगर परिषद बन जाना चाहिए था। लेकिन यह अब हुअा है। नवगछिया नगर पंचायत की अाबादी इस समय करीब 65 हजार है। लेकिन इसमें तेतरी, पकरा व हरनाथचक टाेला के शामिल हाेने से इसकी अाबादी बढ़कर 70 हजार के करीब हाे जाएगी। अफसराें ने बताया कि नवगछिया नगर पंचायत में अभी दस हजार 637 हाेल्डिंग हैं। यहां हर साल करीब 80 लाख रुपये रेवेन्यू टैक्स से अाता है। लेकिन नगर परिषद बनने से रेवेन्यू बढ़कर एक कराेड़ हाेने की संभावना है।

नई नगर पंचायत में इस बार नहीं हाेगा चुनाव

पंचायत अाैर वार्ड का नए सिरे से हाेगा निर्धारण

अफसराें ने बताया कि पंचायत के नगर पंचायत बनने से पंचायत व वार्ड दाेनाें का नए सिरे से निर्धारण हाेगा। नियम है कि अगर चार हजार से कम की अाबादी है ताे वाे पंचायत नहीं बनेगी। बल्कि किसी पंचायत में उसे अटैच कर दिया जाएगा। इसी तरह चार हजार से अधिक की अाबादी रहने पर एक पंचायत का निर्माण हाे जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *