नवगछिया : बिना नोटिस के जेसीबी द्वारा तोड़े जाने के बाद आक्रोशित दुकान, लटकता रहा जिसमें करंट था -Naugachia News

नवगछिया के स्टेशन रोड की कई दुकानों को बुधवार की देर रात बिना नोटिस के जेसीबी द्वारा तोड़े जाने के बाद आक्रोशित दुकानदारों ने गुरुवार को सुबह से छह घंटे सड़क जाम कर रेलवे के पदाधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की।

दुकानदारों का आक्रोश इस बात को लेकर था कि बिना किसी पूर्व सूचना के उनकी दुकानों के आगे लगे शेड इत्यादि को पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया गया जबकि मामला नाला सफाई का था। इससे शेड का कोई लेना-देना नहीं था। नाला सफाई के लिए पाट उठाया जा रहा था। इसी बीच बीती रात अचानक सभी दुकानों के आगे बने शेड को पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया गया जिससे उनकी दुकानदारी को काफी नुकसान पहुंचा है। दुकानदारों ने कहा कि देर रात जब सभी सो रहे थे तो जेसीबी लगाकर तोड़ना शुरू कर दिया गया। तोड़फोड़ रोकने आये दुकानदारों ने जब रोकने की कोशिश की तो उन्हें भी धक्का दिया गया जिसमें कई लोग घायल हो गए।

लटकता रहा बिजली का तार, हो सकती थी बड़ी घटना

तोड़फोड़ के पूर्व बिजली विभाग से बिजली भी नहीं कटवाई गयी जिससे बिजली का तार सड़क पर बीचोंबीच लटकता रहा जिसमें करंट था। अल सुबह अखबार लेकर आई सभी गाड़ियां बिजली करंट से बाल-बाल बची।

इसके विरोध में नवगछिया स्टेशन रोड के आक्रोशित दुकानदारों ने गुरुवार सुबह से स्टेशन रोड को पूरी तरह से जाम कर दिया। जाम लगभग छह घंटे रहा। इस वजह से सुबह से ही इस रास्ते से स्कूली बच्चों और उनके वाहन तथा रेलयात्रियों का बाजार की तरफ आना-जाना पूरी तरह से बाधित हो गया। जाम स्थल से सभी वाहनों को वापस लौटना पड़ा। मौके पर घंटों कोई प्रशासनिक पदाधिकारी भी नहीं पहुंचे।

दुकानदारों ने आरोप लगाया कि सहायक रेल अभियंता (एईएन) बिहपुर द्वारा 23 लाख 60 हजार में वैशाली होटल के पीछे की जमीन बंदोबस्ती की गई थी और आश्वासन दिया गया था कि स्टेशन रोड से सब्जी मंडी वहां शिफ्ट कर दी जाएगी जो आज तक शिफ्ट नहीं हुआ।

सहायक रेल अभियंता पर कार्रवाई करने की मांग

जाम की सूचना पर रेलवे के बिहपुर आईओडब्लू (कनीय अभियंता), सीओ, आरपीएफ, नगर पंचायत कार्यपालक पदाधिकारी सहित पार्षद पहुंचे और दुकानदारों से बातचीत की। दुकानदारों ने कहा कि एईएन की मिलीभगत से बट्टी वसूली करनेवालों ने रात में जेसीबी से तोड़ा है। रात में चुपचाप दुकान तोड़ने के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज होना चाहिए। दुकानदारों ने एईएन पर भी कारवाई की मांग के साथ डीएम, डीआरएम, नवगछिया एसडीओ, रेल एसपी, एसपी नवगछिया को आवेदन दिया है। वहीं एईएन ने कहा कि तोड़फोड़ की घटना की जानकारी मुझे नहीं थी। मौके पर कार्यपालक पदाधिकारी संजीव सुमन, पार्षद मुन्ना भगत, मनीष सिंह उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......