नवगछिया: गंगा की तेज धार में नाव पलटने से 3 किशोरियों की हुई मौत.. पसरा मातमी सन्नाटा

प्रखंड के शहजादपुर पंचायत के निरुद्दीनपुर गांव से उत्तर मरगांग नदी में नाव डूबने से तीन बच्चियों की मौत हो गयी। एक बच्ची को बचा लिया गया। घटना सोमवार की दोपहर लगभग ढाई बजे की है। नाव पर आठ लोग सवार थे। सीओ अजय सरकार ने बताया कि मृतकों में उषा कुमारी (13) पिता सुबोध मंडल, खगड़िया जिले के एकनियां कैलू मंडल टोला, कोमल कुमारी (15) व सोनाली कुमारी (11) पिता रंजीत मंडल निरुद्दीनपुर है। जबकि सपना कुमारी (14) पिता संजीत मंडल निरुद्दीनपुर को बचा लिया गया। तीनों शव को ग्रामीणों के सहयोग से नदी से निकाला गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडलीय अस्पताल नवगछिया भेजा गया।

ग्रामीण व मुखिया रूपेश कुमार मंडल ने बताया कि रंजीत मंडल के घर शादी थी जिसमें उसकी बहन और भगीनी उषा कुमारी आयी थी। कोमल, सोनाली व भतीजी सपना कुमारी सभी साथ में मवेशी का घास लाने मरगांग के पार गयी थी। घास लेकर मरगांग में मछली मारने वाले मछुआरे की डेंगी नाव लगी थी। उसपर पहले से चार लोग मौजूद थे। उसी नाव पर चारों बच्चियां चढ़कर पार करने लगीं। इस दौरान अनियंत्रित होकर डेंगी पलट गयी।

शोर मचाने पर आसपास के बथनियां के ग्रामीण दौड़े और सपना कुमारी को डूबने से बचा लिया। जबकि तीन बच्चियों की डूबने से मौत हो गयी। ग्रामीणों ने तीनों का शव खोजकर बाहर निकाला। घटना की सूचना पर आसपास के ग्रामीण काफी संख्या में जुट गये। मृतक की मां, दादी व पिता रो-रोकर बेहोश हो जाते थे। आपदा प्रबंधन शाखा के प्रभारी सह वरीय उपसमाहर्ता विकास कुमार कर्ण ने बताया कि नारायणपुर प्रखंड में घास काटने गयी तीन बच्चियों की डूबने से मौत हुई है। कागजी प्रक्रिया पूरी होने के बाद परिजनों को चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान की राशि दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चोर चोर चोर.. कॉपी कर रहा है