नवगछिया : अपराधियों ने वारदात को दिया अंजाम, गोलियों की तड़तड़ाहट से लोगों को कलेजा उठा कांप-Naugachia News

नवगछिया : चापर चौक कटरिया ओवरब्रिज के समीप रविवार सुबह करीब 7 बजे – मकई के खेत से पशुओं के लिए चारा लेकर घर लौट रहे 38 वर्षीय नरेंद्र * यादव उर्फ बिट्टन यादव की हत्या के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल – गई। जिस तरह अपराधियों ने वारदात को अंजाम दिया, उससे लोगों के अंदर खौफ बैठ गया। वारदात के समय घटनास्थल के आसपास खेतों में काम कर रहे मजदूर और – किसान सकते में आ गए। गोलियों – की तड़तड़ाहट से लोगों को कलेजा कांप उठा। खेत में काम रहे किसान के बराबर हो गया। फसल कटाई के समय में लोग खेत छोड़कर घरों को निकल गए। गोलियों की आवाज सुनकर चापर चौक पर मौजूद कुछ दुकानदार व आम लोग घटनास्थल पर पहुंचे।

वहां देखा कि युवक खून से लथपथ मृत अवस्था में जमीन पर पड़ा हुआ था। इसके बाद लोगों ने इसकी सूचना रंगरा पुलिस को दी। तब पुलिस मौके पर पहुंची। इसके बाद धीरे-धीरे पूरा मामला तेजी के साथ आसपास फैल गया। घटनास्थल पर पहुंची ने तहकीकात की, लेकिन पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा। मामला आपराधिक गुटों से जुड़ा है। इस घटना के बाद । पुलिस ने पूरे इलाके में दबिश बढ़ा दी है। हालांकि इस मामले में अभी कोई प्राथमिकी नहीं दर्ज की गई, लेकिन पुलिस ने अपनी गतिविधि बढ़ा दी है। पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव का अंतिम संस्कार करने में जुट गए। थाना प्रभारी प्रमोद साह ने बताया कि अभी इस मामले में कोई आवेदन नहीं मिला है। लेकिन पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी करने को से लेकर छापेमारी कर रही है।

घटना के बाद दहशत में लोग, मातमी सन्नाटा..

नरेंद्र यादव रंगरा के चापर निवासी कृत नारायण यादव का बेटा है। घटना के बाद नरद्र यादव के घर में कोहराम मच गया। पत्नी टिकू देवी का रो-रोकर बेहाल हाल है। लोग उसे संभालने वह बार-बार बेहोश हो रही थी। उसके दो पुत्र और एक पुत्री है। सबसे बड़ा पुत्र नीरज यादव इंटर का छात्र है, दूसरा पुत्र 7वीं पढ़ता है। पुत्री रूपा कुमारी गांव के विद्यालय की ही 10वीं की छात्रा है। घटना के बाद पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है घटना के बाबत फिलहाल परिजन कुछ भी बोलने से इंकार कर रहे हैं। ।

नरेंद्र यादव का रहा है आपराधिक इतिहास

सूत्रों के अनुसार नरेंद्र यादव उर्फ बिट्टन यादव का आपराधिक इतिहास रहा है। पिछले । वर्ष खरीक थाना क्षेत्र के अम्भो ढाला के समीप हुई नंदकिशोर मंडल हत्याकांड में मुख्य सूत्रधार था। उस हत्याकांड का यह नामजद आरोपी भी रहा है। इस हत्याकांड में वह लगभग 6 माह जेल में रहा था। पुलिस ने न्यायालय चार्जशीट दायर नहीं किया, फलस्वरूप उसे न्यायालय से बेल मिल गया। हाल ही में वह 1 माह पहले जेल से  बाहर आया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......