नवगछिया : अधूरे पड़े रेल ओवरब्रिज के बनने का रास्ता अब साफ.. 41 करोड़ 65 लाख स्वीकृत

नवगछिया। नवगछिया शहर के थाना चौक से सटे वर्षों से अधूरे पड़े रेल ओवरब्रिज (आरओबी) के बनने का रास्ता अब साफ हो गया है। बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में नौगछिया-कटरिया स्टेशन के बीच स्थित एलसी न0 11/एसपीएल रेलवे द्वारा स्वीकृत सड़क ऊपरी पुल और पहुंच पथ के निर्माण के लिए 41 करोड़ 65 लाख में से 21 करोड़ 92 लाख रुपये स्वीकृत की गई है। इस रेलवे ओवरब्रिज के बन जाने से नवगछिया शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात मिल जायेगी।

जनप्रतिनिधि की बेरुखी का शिकार था ओवरब्रिज:

रेल ओवरब्रिज के अभाव में ट्रेनों की आवाजाही के दौरान महज 15 मिनट रेल फाटक गिरने पर एक घंटे तक ट्रैफिक जाम लगा रहता है। इसका खामयिाजा शहरवासी भुगतते हैं। जाम की समस्या से पूरा शहर कराह रहा है। रेलवे ओवरब्रिज को लेकर कई बार आंदोलन हुए मगर, आश्वासन ही सिर्फ हाथ आ सका।

2013 में रेलवे ओवरब्रिज की स्वीकृति मिली थी :

वर्ष 2013 में नवगछिया में रेलवे ओवरब्रिज की स्वीकृति मिली थी। महज तीन वर्ष में ओवरब्रिज का निर्माण हो जाना था। 2014 में रेलवे के द्वारा कार्य शुरू किया गया गया। इतने वर्षों में सिर्फ चार पाये बनने के बाद निर्माण कार्य अधर में लटका हुआ था। केंद्र और राज्य सरकार के बीच यह महत्वकांक्षी परियोजना अटक सी गई थी्।

छह वर्षों में बन पाए सिर्फ चार स्तंभ :

सात वर्षों में सिर्फ चार स्तंभों का यहां निर्माण हो सका है। रेलवे ने इस खींचतान में काम रोक दिया है। वहीं राज्य सरकार अपने हिस्से का निर्माण कार्य तो दूर अबतक टेंडर भी नहीं करा पाई है आधे-अधूरे बने बने स्तंभ की वजह से यहां हादसे भी हो रहे हैं। ट्रेनों की आवाजाही के समय नवगछिया से भागलपुर पूर्णिया, गोपालपुर और रंगरा इस्माईलपुर को आने-जाने के लिए आवागमन में लोगों को काफी परेशानियों हो जाती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चोर चोर चोर.. कॉपी कर रहा है