गुड न्यूज! मधेपुरा विश्वविद्यालय में शुरू होगी BEd और MEd की पढ़ाई

ग्रेजुएट स्टूडेंट्स के लिए गुड न्यूज! भूपेंद्र नारायण मंडल यूनिवर्सिटी(बीएनएमयू) मुख्यालय में अगले शैक्षणिक सत्र से शिक्षा शास्त्र विभाग शुरू हो जाएगा। जुलाई 2019 से शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र से शिक्षा संकाय के बीएड (बैचलर ऑफ एजुकेशन) और एमएड (मास्टर ऑफ एजुकेशन) की पढ़ाई शुरू कर दी जाएगी।

इसके लिए नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन भुवनेश्वर ने भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय मुख्यालय में शिक्षा शास्त्र विभाग शुरू करने की अनुमति प्रदान की है। शिक्षा शास्त्र विभाग खोलने के लिए विवि कई सालों से प्रयासरत था। पिछले साल एनसीटीई भुवनेश्वर द्वारा निर्धारित मापदंड पूरा नहीं करने के कारण इसकी अनुमति नहीं दी थी। बाद में यूनिवर्सिटी ने उस कमी को दूर कर लिया गया। यूनिवर्सिटी मुख्यालय में 2019-21 पहला सत्र बैच होगा। कुलपति डॉ. अवध किशोर राय ने विश्वविद्यालय में बीएड और एमएड कोर्स शुरू करने का संकल्प लिया था, जो अब पूरा होता दिख रहा है।

एनसीटीई भुवनेश्वर ने बीएड के लिए एक सौ और एमएड के लिए 50 छात्रों का एडमिशन लेने की स्वीकृति दी है। बीएड के लिए दो वार्षिक परीक्षा होगी जबकि एमएड के लिए चार सेमेस्टर की परीक्षा होगी। यूनिवर्सिटी मुख्यालय में शिक्षा शास्त्र विभाग शुरू होने से खासकर कोसी के छात्रों को फायदा होगा। अभी पूर्णिया और कोसी प्रमंडल में एमएड की पढ़ाई सिर्फ अध्यापक शिक्षा महाविद्यालय (सीटीई) सहरसा में हो रही है। जहां एमएड के लिए मात्र 50 सीट आवंटित है।

विश्वविद्यालय में कोर्स शुरू होने से दोनों मिलाकर एक सौ सीट हो जाएगा। सीटीई सहरसा के प्रधानाचार्य सह बीएनमयू के शिक्षा शास्त्र संकाय के डीन डॉ. राणा जयराम सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय में बीएड-एमएड कोर्स शुरू होने से यहां शिक्षा का स्तर सुदृढ़ होगा। साथ ही यहां के छात्रों को एमएड के लिए 50 सीट का इजाफा होगा, जो छात्रों के लिए सुखद बात है।

महाविद्यालय निरीक्षक डॉ. अरुण कुमार ने बताया कि सभी अर्हताएं पूरी होने के बाद ही एनसीईटी ने एमएड के कोर्स के लिए स्वीकृति प्रदान की है। अब यहां के छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए सहूलियत होगी

पढ़ाई के लिए तैयार किया जा रहा है विभाग
बीएनएमयू में शिक्षा शास्त्र के पाठ्यक्रम के लिए सोसल साइंस बिल्डिंग को तैयार किया गया है। इसमें एनसीटीई मापदंड के अनुरूप उपस्कर, फर्नीचर, प्रयोगशाला, पुस्तकालय आदि को व्यवस्थित किया जाएगा। प्रतिकुलपति डॉ. फारुक अली ने बताया कि शिक्षा शास्त्र के पाठ्यक्रम के लिए किताबेंं खरीद की जा चुकी है। साइकोलॉजिकल लैब, मैथ लैब, लैंग्वेज लैब, फिजिकल साइंस, बायोलॉजिकल साइंस लैब, म्यूजिक फाइन आर्ट्स आदि के लिए उपस्कर उपलब्ध करा लिया गया है। फर्नीचर की खरीद के लिए जैम पोर्टल को ऑर्डर दिया गया है।

हो चुकी है शिक्षकों की बहाली
मधेपुरा। बीएनएमयू मुख्यालय में शिक्षा शास्त्र विभाग के लिए शिक्षकों की बहाली पिछले साल ही पूरा कर लिया गया था। कोर्स चालू होने की स्थिति चयनित शिक्षकों को योगदान के लिए पत्र भेजा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......