कल था साल का सबसे अधिकतम तापमान वाला दिन, बढ़ी गर्मी के कारण पसीने छूट गये

13 अप्रैल सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। शनिवार को अधिकतम तापमान 37.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। शुक्रवार के मुकाबले शनिवार को अधिकतम तापमान में 1.8 डिग्री सेल्सियस तापमान चढ़ा। .

सबौर कृषि विश्वविद्यालय के कृषि वैज्ञानिक डॉ. बीरेंद्र बताते हैं कि अगले तीन दिनों में गर्मी में और इजाफा होगा। न्यूनतम-अधिकतम तापमान में 0.5 से एक डिग्री सेल्सियस की और वृद्धि होगी। दिन-रात के तापमान में वृद्धि होने से शनिवार को आसमान साफ रहने के कारण उमस का असर लोगों पर नहीं रहा लेकिन घर से निकले लोगों को बढ़ी गर्मी के कारण पसीने छूट गये। .

24 घंटे में तीन डिग्री बढ़ा रात का तापमान: कृषि मौसम विभाग के अनुसार, बीते 24 घंटे के अंदर न्यूनतम तापमान में तीन डिग्री सेल्सियस इजाफा हुआ। शुक्रवार को 19.0 डिग्री सेल्सियस रहा न्यूनतम तापमान शनिवार को 22.0 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। आर्द्रता शनिवार की सुबह में 70 प्रतिशत रही तो शाम साढ़े पांच बजे तक यह 55 प्रतिशत पर आ गयी। दिन भर चली 6.2 किमी प्रति घंटे की औसत रफ्तार से उत्तरी-पूर्वी हवाओं ने लोगों को तपिश का खूब एहसास कराया। .

तारीख अधिकतम न्यूनतम .

13 अप्रैल 33.8 डि.से. 20.0 .

भागलपुर में बढ़ते तापमान, शुष्क मौसम और वातावरण में प्रदूषण के कारण एलर्जिक कंजेक्टिवाइटिस होने के मामले बढ़ गये हैं। मायागंज अस्पताल के नेत्र ओपीडी में हर रोज आने वाले कुल 125 से 150 नेत्र रोगियों में से 50 से 60 मरीज एलर्जी कंजेक्टिवाइटिस के होते हैं। नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. पुनीत परशुरामपुरिया बताते हैं कि पांच से 15 वर्ष की उम्र के बच्चों में एलर्जिक कंजेक्टिवाइटिस की समस्या ज्यादा देखा जा रही है। इसके अलावा सेल्स एवं मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करने वाले प्रोफेशनल्स में भी यह समस्या अधिक हो रही है, क्योंकि उन्हें ज्यादातर समय घर से बाहर रहना पड़ता है। इससे बचने के लिए जब भी घर से निकले तो आंखों पर चश्मा जरूर लगाएं। बाहर से घर में प्रवेश करें तो ठंढे पानी से आंखों पर छीटें मारें। .

घंटे में दिन और रात के तापमान में दो से तीन डिग्री की बढ़ोतरी.

‘ 37 डिग्री पार हुआ तापमान, लोगों के छूटने लगे पसीने.

मायागंज अस्पताल के मेडिसिन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. हेमशंकर शर्मा बताते हैं कि गर्मी के दौर में सर्वाधिक खतरा डायरिया व लू लगने का होता है। ऐसे में घर में हो या बाहर खूब पानी पीयें। तैलीय एवं मसालेदार खानों से परहेज करें और खाने में सलाद की मात्रा बढ़ायें। अगर उल्टी-दस्त होती है तो गुनगुने पानी में नमक-चीनी या फिर ओआरएस का घोल मिलाकर थोड़े-थोड़े अंतराल में पीते रहें। .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......