नवगछिया के उजानी गांव की घटना: भतीजे ने निर्ममता से चाचा और चाची को मार डाला

गिरफ्तार हुआ आरोपी भतीजा, जमीन और घर हड़पने को लेकर दिया घटना को अंजाम
उजानी गांव पहुंचे एसडीपीओ, पुलिस ने शुरू किया छानबीन

IMG_20170222_51712

नवगछिया: नवगछिया थाना क्षेत्र के उजानी गांव में एक भतीजे ने सारे मानवीय संबंधों को तार तार करते हुए अपने ही सगे नेत्रहीन चाचा और चाची की निर्ममता से हत्या कर दी. मृतक उजानी निवासी मो दुक्खन 55 वर्ष, अंजुम खातून 45 हैं. अंजुम खातून की मौत मौके पर ही हो गयी तो गंभीर रुप से घायल मो दुक्खन को इलाज के लिए अनुमंडल अस्पताल लाया गया जहां से उसे बेहतर इलाज के लिए जेएलएनएमसीएच रेफर कर दिया. लेकिन भागलपुर ले जाने के क्रम में रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी है. इधर घटना के बाद उजानी गांव पहुंची पुलिस ने तीनों नामजद आरोपी मो फैयाज 20, उसके पिता मो मकसूद और अंगूरी बेगम को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों शवों के पोस्टमार्टम के लिए नवगछिया अस्पताल लाया गया था. देर रात ही नवगछिया थाना में प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी थी. जानकारी मिली है कि मो दुक्खन और अंजुम खातून का घर कब्जा करने के लिए मो दुक्खन के बड़े भाई मो मकसूद के पुत्र मो फैयाज ने घटना को अंजाम दिया. जानकारी मिली है कि बुधवार को दोनों पक्षों के बीच किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था. इसी बीच मो फैयाज उग्र हो गया और क्रिकेट खेलने वाले बल्ले से फैयाज ने दोनों की पिटाई शुरू कर दी.

IMG_20170222_341

बल्ले के जोरदार प्रहार से पति पत्नी अपने घर में ही घायल होकर गिर गये. इसके बाद एक धारदार हथियार से फैयाज ने अंजूम खातून का गला रेत कर मारा डाला. इसके बाद फैयाज मो दुक्खन के गले को रेत दिया. इसी बीच स्थल पर आ जुटे ग्रामीणों को देख फैयाज भाग खड़ा हुआ. ग्रामीणों ने देखा कि अंजुम खातून की मौत हो गयी और मो दुक्खन की सांस चल रही है. ग्रामीण स्तर से दुक्खन को इलाज के लिए नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल लाया गया जहां से उसे रेफर किया गया और भागलपुर अस्पताल जाने के क्रम में रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी. ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार फैयाज ने घटना को अंजाम देने के बाद छत पर जा कर बैठ गया और अपने खून से सने कपड़े को बदल कर छुपा लिया. इसके बाद पहुंची पुलिस ने फैयाज समेत अन्य दो को गिरफ्तार कर लिया और उसके खून से सने कपड़े, हत्या में प्रयुक्त धारदार हथियार और क्रिकेट के बल्ले को पुलिस ने जब्त कर लिया है. घटना की सूचना मिलते ही स्थल पर नवगछिया के एसडीपीओ मुकुल कुमार रंजन दल बल के साथ पहुंच कर मामले की सघन छानबीन की है. जानकारी मिली है कि मो दुक्खन और उसके दो अन्य भाई मो मकसूद, मो चुल्हो के बीच विगत वर्षों ही बंटवारा हो गया था. बंटवारे के बाद अन्य दो भाई व उसके परिजनों के आंखों में मो दुक्खन खटक रहे थे. इसी बात को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद होना आम बात हो गयी थी. दुक्खन पूर्व में चालक था. जब दुक्खन के आंखों की रौशनी चली गयी तो वह फल का व्यवसाय करने लगा. उसके तीन छोटे छोटे पुत्रों की परवरिश कर रहा था. ग्रामीणों ने बताया कि दुक्खन को एक छः वर्षीय पुत्र भी पिछले दो माह पहले रहस्यमय तरीके से गयाब है. जिसका कोई अता पता नहीं चला. पुलिस स्तर से मामले की छान बीन के लिए फोरेंसिक टीम से भी संपर्क किया गया है. गुरुवार की सुबह तक फोरेंसिक टीम के उजानी गांव आने की संभावना है. इधर दुखन व उनकी पत्नी अपने पीछे दो छोटे छोटे पुत्रों मो रेहान08, मो इशाक04 को बेसहारा छोड़ गये हैं.

कहते हैं एसपी

नवगछिया के एसपी पंकज सिंहा ने कहा कि जमीन विवाद में दोनों पक्षों के बीच मारपीट हुई थी. जिसमें दोनों की मौत हो गयी. मामले में सभी नामजद लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. प्रयुक्त हथियारों व आरोपी के खून से सने कपड़ों को बरामद कर लिया गया है. मामले की जांच के लिए फोरेंसिक टीम को बुलाया जा रहा है. पुलिस मामले की छानबीन संजीदगी से कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *