शत्रुघ्न ने कहा – फिल्मी हस्तियों के साथ दंगा-फसाद, मारपीट नहीं चलेगा

संजय लीला भंसाली के साथ जयपुर में पद्मावती की शूटिंग के दौरान शुक्रवार को हुई हाथापाई पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए पटना साहिब से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि ये मूर्ख तत्व किसी भी हिंदू विचारधारा का प्रतिनिधित्व नहीं करते हैं। दुनिया का कोई भी धर्म किसी को हिंसा करने या कानून को अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं देता है।

satrudhan sinha

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता वो किसकी राजभक्ति करते हैं और वो किस चीज का विरोध कर रहे हैं? क्या उन्होंने भंसाली की फिल्म पद्मावती देखी है? क्या उन्हें पता है कि उसमें क्या है? वो उस चीज का विरोध कैसे कर सकते हैं जो हुआ नही है?

दरअसल, प्रदर्शनकारियों ने फिल्म निर्माता को चांटे मारे और उनके कैमरे तोड़ दिए गए थे।

उनका आरोप था कि निर्देशक ने तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की थी। राजपूत कर्णी सेना ने इस पूरी घटना को कैद करके सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। जिसके बाद यह वीडियो वायरल हो गया है। इस समय पूरी इंडस्ट्री डायरेक्टर के समर्थन में खड़ी है।

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मुझे लगता है भंसाली एक जिम्मेदार फिल्म निर्माता हैं। वो कभी भी ऐसा कुछ नहीं करेंगे जिससे हमारा धर्म या संस्कृति डैमेज हो। जब भंसाली के साथ ऐसा हो सकता है तो किसी के साथ भी हो सकता है।

शत्रुघ्न ने कहा – पीएम को इसमें हस्तक्षेप करना चाहिए

शत्रुघ्न चाहते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी इस मामले को निजी तौर पर खुद देखें। उन्होंने कहा- मैं निष्ठापूर्वक चाहूंगा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी आक्रामक प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई करें और देश में तेजी से बढ़ रही इस सांस्कृतिक असहिष्णुता के मामले को खुद देखें।

उन्होंने कहा कि अगर आपको कोई फिल्म पसंद नहीं आई है या फिल्म का आइडिया भी पसंद नहीं है तो आप कानूनी प्रक्रिया के जरिए उसके प्रति अपना विरोध या असंतोष जता सकते हैं। ये दंगा-फसाद मारपीट नहीं चलेगा। और वो भी एक फिल्म निर्माता के साथ बाप रे!!

फिल्म और फिल्म निर्माता हमारे देश में आसान टार्गेट हैं। उन्हें एंटरटेन के लिए देखा जाता है। भंसाली जैसे फिल्म निर्माता हमारी संस्कृति को दुनिया में सबसे आगे लेकर जाते हैं। जो भी हुआ उसमें हमारी मांग है कि उनसे माफी मांगी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *