नवगछिया: अपराध पर भारी पड़ रहा है वाहनों की रफ्तार

nh31 naugachia

नवगछिया : नवगछिया में सड़क हादसा एक ज्वलंत समस्या बन चुकी है. नारायणपुर से लेकर रंगरा तक शायद ही कोई दिन हो जब कोई न हुआ हो. नवगछिया एक समय अपराध के लिए बदनाम हुआ करता था लेकिन इन दिनों अगर सरकारी स्तर के आंकड़ों पर नजर डालें तो पता चलता है कि सड़कों पर हादसों का खूनी खेल अपराध पर भारी पड़ रहा है. सरकारी आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले वर्ष 2016 में 83 लोग घायल हुए जबकि 50 लोग गंभीर रुप से घायल हो गये और 73 लोग आंशिक रुप से घायल हुए. नवगछिया के कटरिया ओवरब्रीज से लेकर मकंदपुर चैक तक इन दिनों र्दुघटना जोन बनता जा रहा है. लगभग 11 किलोमीटर की दूरी वाले इस सड़क पर कोई ऐसी जगह नहीं है जहां पर हादसा न हुआ है. इसमें मंदरौनी, गोपी ढाबा, कुमादपुर, मुरली, रंगरा चैक आदि अत्यधिक खतरनाक जगहें हैं. विक्रमशिला सेतु पथ भी पिछले दिनों एक के बाद एक हादसे होने के मामले सामने आये हैं. जगतपुर, गरैया और खगड़ा को खतरनाक स्थल के रुप में चिन्हित किया गया है. नारायणपुर के बीरबन्ना से लेकर सतीशनगर खगड़िया तक राजमार्ग पर अक्सर लोग दर्दनाक हादसों से रु ब रु होते रहे हैं.

हादसे का कारण

शराब बंदी से पहले सड़क हादसे का सबसे बड़ा कारण शराब पी कर वाहन चलाना मना जाता था लेकिन शराब बंदी के बाद हादसों में के आंकड़ों में कुछ गिरावट तो जरूर हुई है लेकिन यह 20 फीसदी से भी कम है. शराब बंदी के बाद खास कर ब्रांच रोड पर हादसे में कमी आयी है जबकि राजमार्ग पर हादसों में कमी नहीं है. स्थानीय लोग व जानकार बताते हैं कि हादसों का सबसे बड़ा कारण वाहनों की रफ्तार और ओवरटेकिंग है. दूसरी तरफ कई जगहों पर सड़क में यू टर्न होना, सड़क किनारे अतिक्रमण और सड़क का घनी आबादी के बीच होना भी हादसों का कारण है. स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस व प्रशासनिक स्तर से वाहनों की रफ्तार की समस्यक निगरानी कर और यातायात नियमों का सख्ती से पालन करवा कर हादसों को नियंत्रित किया जा सकता है. स्थानीय लोगों का कहना है कि नवगछिया की सड़कें भगवान भरोसे है.

 

कहते हैं पदाधिकारी

 

नवगछिया के एसपी पंकज सिंहा सड़क हादसों को नियंत्रित करने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण और विभागीय वरीय पदाधिकारियों को लिखा गया है. एनएच पर कहीं भी डिवाइडर नहीं है. इस वजह से तेज रफ्तार से आ रही गाड़ियों को नियंत्रित करने के लिए मुकम्मल व्यवस्था प्रधिकार द्वारा नहीं किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......