ज्योतिष: कौन बनेगा यूपी का मुख्यमंत्री

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में जहां सभी राजनैतिक दल अपना अपना वोट बैंक जुटाने की जुगत में लगे है तो वहीं ग्रह दशाओं की अगर बात करें तो हर नेता के सितारे कुछ और ही कहते नजर आ रहे हैं। धर्म नगरी काशी के विद्वान ज्योतिष व प्रख्यात पंडित पवन त्रिपाठी ने हर बसपा, सपा, कांग्रेस व भाजपा चारों राजनैतिक दलों के उम्मीदवारों पर प्रकाश डालते हुए बताया।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के भाग्य राशि पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि उनकी कन्या लगन की कुंडली है जिस पर आगामी 25 मार्च तक शनि की दशा है। फिलहाल उनकी बुध की महादशा है लेकिन बीच बीच में शनि की दशा उस पर प्रभावी होती है। शनि पिता स्थान पर बैठा है जिसका प्रभाव रहा कि बीते दिनों उनका उनके पिता से व्यवहार खराब रहा जो सबके सामने रहा।

हालांकि 25 मार्च के बाद केतु की दशा है जो कुंडली के दशवे भाग में होगा जिसको देखते हुए यह कहा जा सकता है कि उनका राजयोग पुनः बन रहा है। अगर इसे प्रतिशत में कहा जाए तो 80 प्रतिशत तक उनका भाग्य है। वहीं कांग्रेस राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर कहा कि राहुल गांधी की बहुत अच्छी दशा नहीं है।

हालांकि बृहस्पत की अंतर्दशा के कारण चन्द्रमा में गजकेशरी योग के माध्यम से राहुल को लाभ मिलने जा रहा है। तात्पर्य यह है कि वो सत्ता से दूर हैं लेकिन अपना वजूद यूपी चुनाव में स्थापित करने में बहुत हद तक सफल रहेंगे।
वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती की भाग्य रेखा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इनका लग्न सिंह है जो शेर की तरह दहाड़ती है लेकिन वो वक्ता के रूप में अच्छी नहीं है अर्थात उनकी वाणी बेलगाम है जो उनको हानि पहुंचाती है।

हालांकि बुद्ध की महादशा पर शुक्र अंतःदशा में है। सूर्य के साथ बुध बैठा है। बीते 19 अक्टूबर के बाद इनकी जो दशा प्रारंभ हुई है वो राजयोग की है।शुक्र भाग्येश है यह केंद्र में बैठे हैं। मायावती सत्ता के करीब पहुंच सकती हैं।

वहीं प्रधानमन्त्री मोदी के ग्रह दशा पर कहा कि इनकी वृश्चिक लग्न है जो प्रबल महादशा है। लेकिन यूपी चुनाव में भाजपा के सीएम कैंडिडेट की बात करे तो जैसा चर्चा गोरखपुर सांसद योगी आदित्यनाथ की चल रही है तो योगी का कुंडली सिंह लग्न है और बृहस्पति अच्छा है। देवताओं वाली वाणी है किसी से डरते नहीं है लेकिन इनकी कुंडली में बुध की महादशा है और 31 जनवरी के बाद से केतु 12 वे स्थान में बैठा है जो कुंडली को कमजोर बना रहा है। जिसके कारण यह चौथे पायदान पर माने जा सकता है।

वहीं इन सबसे परे राजनीतिक गलियारे में चल रही इस चर्चा पर की डिम्पल यादव को सपा द्वारा मुख्यमंत्री का उम्मीदवार बनाया जा सकता है पर पूर्ण विराम लगाते हुए उन्होंने कहा कि अखिलेश के पत्नी भाव में मंगल भाव में बैठा है जिसके कारण अखिलेश को पत्नी योग से लाभ नहीं होने वाला है अर्थात ऐसा ग्रहों के हिसाब से फिलहाल कोई संभावना नहीं बनती नजर आ रही है।

हालांकि ज्योतिष के अनुसार अखिलेश प्लस कांग्रेस जहां 80 प्रतिशत पर है, तो वहीं मायावती 70 प्रतिशत उम्मीद है और वहीं भाजपा तीसरे पायदान पर है। हालांकि भाजपा द्वारा सीएम कैंडिडेट घोषित नहीं किया गया है। जिसके कारण पूर्णतया सही स्थिति का आंकलन नहीं लगाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......