नदी किनारे लगी बंशी से घायल हुआ गरुड़

पक्षीविदों ने किया इलाज

23 naug ghayal gadud

ढोलबज्जा : नवगछिया के कोसी पार कदवा दियारा पंचायत के मारा धार में,गुरुवार के दिन अज्ञात मछली शिकारियों के बंसी में गरुड फंस जाने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया. जिसे बडी मस्सकत के बाद बाहर निकाला गया. मालूम हो कि मारा धार में शिकारियों ने मछली फसाने के लिए नकूले बंसी में मछली फसाने का चारा डाल रखा था। जिसे गरुड के द्वारा निगल जाने के बाद वह बंसी उनके गले में फंस गया था. जब कुछ लोगों ने उसे घायल अवस्था में तडपते देखा गया था. जानकारी मिलते हीं डॉ० नगीना राय ने उसे उठाकर, लालु व राजीव कुमार के साथ अन्य ग्रामीणों की सहयोग से अॉपरेशन कर गले से फसे बंसी को बाहर निकाल बेहतर ईलाज के लिए सुंदर वन भागलपुर भेजा. जहाँ गरुड की नाजुक स्थिति को देख मंदार नेचर रीसर्च क्लब के फील्ड अॉफिसर जयनंदन मंडल ने जिला स्तरीय वेटेनरी अस्पताल भागलपुर में चिकित्सक जे के झा से ईलाज करवा कर, सुरक्षित सुंदर वन में रखा है. गरुड की जान खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं। जयनंदन मंडल ने बताया- घायल गरुड के ईलाज में करीब 2200 रुपये खर्च हो चुके हैं. अभी पांच दिन लगातार इसे एक-एक सूई लगाये जायेंगे। जहाँ एक सूई का कीमत 700 रुपये बताए जा रहे हैं. जिसमें कुल मिलाकर करीब छह हजार रुपये खर्च होंगे. उन्होने बताया- बडी दु:ख की बात है जो हमारे विलुप्त प्राय पक्षी के साथ ऐसा किया. यदि दुबारा इस तरह की घटना होती है तो कतयी बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और उस क्षेत्रों के संबंधित थानेदार व आरोपियों पर हमारे विभाग की ओर से कडी कानूनी कार्यवाही की जायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *