" />

विक्रमशिला पुल के बगल में समानांतर पुल बनाने की गति तेज, मार्च तक टेंडर निकाल.. शुरू

भागलपुर में विक्रमशिला पुल के बगल में समानांतर पुल बनाने की गति तेज होगी। पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृतलाल मीणा ने तीन महीने में जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी करने और मार्च तक टेंडर निकालने को कहा है।

समानांतर पुल के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है। पुल निर्माण निगम ने मुआवजा भुगतान के लिए 15 करोड़ रुपये जिला भू-अर्जन कार्यालय को दिया है। समानांतर पुल के लिए मखुजान मौजा की 10.98 एकड़, महादेवपुर मौजा की 35.593 एकड़, परबत्ता मौजा की .48 एकड़ और भागलपुर नगर निगम मौजा की 4.41 एकड़ जमीन का अधिग्रहण करना है। इसके अलावा बिहार सरकार और रेलवे की जमीन है।

प्रभारी जिला भू-अर्जन पदाधिकारी सह एडीएम (विभागीय जांच) मनोज कुमार ने बताया कि रैयतों की सूची तैयार की जा रही है। जल्द ही मुआवजा भुगतान की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। प्रधान सचिव के निर्देश के आलोक में तीन माह के अंदर जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी कर पुल निर्माण निगम को सौंप दिया जाएगा। जमीन सौंपने के बाद इंजीनियर को सीमांकन करने का निर्देश दिया गया है।

पुल निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक राम सुरेश राय ने बताया कि मार्च के अंत तक टेंडर प्रकाशित करने का प्रयास किया जा रहा है। 1918 करोड़ रुपये का प्राक्कलन बनाकर मंत्रालत को भेजा गया है। मंत्रालय से अनुमति मिलने के बाद आगे की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। जमीन अधिग्रहण के लिए राशि जिला प्रशासन को भेजी जा चुकी है।

जाम से मिलेगी राहत
समानांतर पुल बनने से विक्रमशिला पुल पर गाड़ियों का दबाव कम होगा। टू लेन होने के चलते विक्रमशिला पुल पर अक्सर जाम लग रहा है। इसका असर नवगछिया और कहलगांव की तरफ और शहरी क्षेत्र पर भी पड़ रहा है। समानांतर पुल बनने से जाम से राहत मिलेगी। विक्रमशिला पुल से खगड़िया, सहरसा, मधेपुरा, पूर्णिया, किशनगंज, अररिया, कटिहार, भागलपुर व बांका सहित झारखंड और बंगाल के रास्ते आने-जाने वाली गाड़ियों का आवागमन होता है। काफी दिनों से समानांतर पुल की मांग हो रही है।

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

adv
error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......