भागलपुर : 7.8 डिग्री पर पहुंचा तापमान… बढ़ी कनकनी, चार दिनों तक राहत के आसार नहीं

भागलपुर : 11.5 किलोमीटर की रफ्तार से चल रही बर्फीली हवाओं ने लोगों की कंपकंपी बढ़ा दी है। घर से बाहर निकलते ही लोगों को हड्डी गलाने वाली ठंड महसूस हो रही है। रविवार की तुलना में सोमवार के तापमान में कमी आई है। मौसम विज्ञानी की माने तो अगले तीन-चार दिनों तक ठंड से राहत मिलने के आसार नहीं दिख रहे हैं।

रविवार को अधिकतम तापमान जहां 20.2 डिग्री सेल्सियस था, वहीं सोमवार को यह 18.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस से घटकर 7.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। तेज बर्फीली हवा चलने से ठंड अधिक महसूस हो रही है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान में कमी के कारण ठंड का कहर जारी है। फिलहाल ठंड से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

सोमवार को कोहरे की चादर ओढ़कर दिन निकला, जिसके बाद मौसम का मिजाज सर्द होता चला गया।

बिहार कृषि विश्वविद्यालय मौसम विभाग के नोडल पदाधिकारी प्रो. बीरेंद्र कुमार ने मौसम पूर्वानुमान में बताया कि मंगलवार को दिन साफ रहेगा। मौसम शुष्क होगा। सर्द पश्चिमी हवा चलेगी। अगले तीन-चार दिनों तक मौसम यूं ही बना रहेगा। ठंड से राहत की उम्मीद नहीं है। तापमान में और गिरावट आने की संभावना है।

15 तक आठवीं तक की कक्षाएं स्थगित: ठंड और शीतलहर को देखते हुए सरकारी और निजी स्कूलों में छुट्टियां और बढ़ा दी गई है। जिले के सरकारी और गैर सरकारी स्कूल (कक्षा आठ तक) 15 जनवरी तक बंद रहेंगे। वहीं, नौ और दस की कक्षाएं सुबह 10 से दोपहर दो बजे तक संचालित करने निर्देश दिया गया है। सोमवार को डीएम ने यह आदेश जारी किया है। यह आदेश जिले के सरकारी और निजी स्कूलों में भी लागू होगा। जिला शिक्षा पदाधिकारी और जिला कार्यक्रम समन्वयक व सर्वशिक्षा अभियान को आदेश का अनुपालन सुनिश्चित कराने को कहा गया है।

जंक्शन नहीं पहुंची ब्रrापुत्र और फरक्का, वेटिंग हॉल में यात्रियों की कटी रात

जैसे-जैसे ठंड और कोहरा बढ़ रहा है। ट्रेनों की रफ्तार भी कम हो रही है। सुपरफास्ट गाड़ियां पैसेंजर की चाल में चल रही हैं। दिल्ली की ओर से आने वाली ट्रेनें लेट हो रही हैं। इससे यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा। सोमवार को आंनद विहार टर्मिनल से आने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस डेढ़ घंटे, गया-हावड़ा एक्सप्रेस ढाई घंटे और अंग एक्सप्रेस डेढ़ घंटे देरी से आई।

वहीं, दिल्ली से आने वाली ब्रrापुत्र मेल देर रात तक नहीं पहुंची। करीब 10 घंटे विलंब से चलने के कारण ब्रrापुत्र मेल का मंगलवार की सुबह आने का समय निर्धारित किया गया। कुछ ऐसी ही स्थिति दिल्ली से चलकर मालदा जाने वाली फरक्का एक्सप्रेस की रही। फरक्का एक्सप्रेस के आने का समय सुबह छह बताया गया था। ऐसे में दोनों ट्रेनों के यात्रियों का समय स्टेशन के वेटिंग हॉल में ही बीता। ब्रrापुत्र मेल से न्यू जलपाईगुड़ी जाने वाले महिला यात्री सुमन देवी ने बताया कि वह बच्चे के साथ जाने के लिए नवगछिया से पहुंची है। ट्रेन काफी लेट है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......