" />

भागलपुर के लाल ने किया कमाल, बनाई इलेक्ट्रिक बाइक, 25 रुपये में 100 किलोमीटर का सफर

adv

बाजार में जल्द ही एक ऐसी इलेक्ट्रिक बाइक दिखेगी, जिसमें सिर्फ 25 रुपये की बिजली खर्च कर आप सौ किलोमीटर तक का सफर कर सकते हैं। पहले चरण में तीन साल के अंदर पांच से छह हजार इलेक्ट्रिक बाइक बाजार में उतराने का लक्ष्य है। सिल्लीगुड़ी में इसका वर्कशॉप बनाया गया है।

बाइक का पार्ट चाइना, दिल्ली व सिलीगुड़ी से मंगवाये गये हैं। भागलपुर के युवक अनिकेत राज व उनकी टीम का दावा है कि 10 माह की कड़ी मेहनत के बाद ऐसी बाइक का निर्माण संभव हो सका है। इशाकचक के 19 वर्षीय अनिकेत ने बताया कि बचपन से ही उसका सपना इलेक्ट्रिक बाइक बनाने की थी। दावा किया कि बढ़ते पेट्रोल के दाम, वायु व ध्वनि प्रदूषण और मेंटेनेंस चार्ज से लोगों को छुटकारा मिलेगा। बाइक को 150 सेकेंड तक बिजली से कनेक्ट करने के बाद इसमें 100 किलोमीटर चलने की शक्ति आ जाएगी। इसमें चार यूनिट बिजली की खपत होगी। बाइक की कीमत भी एक लाख के अंदर होगी। इलेक्ट्रिक बाइक को बाजार में लॉन्च करने के लिए फिलहाल निवेशकों से बातचीत चल रही है। उम्मीद है कि अगले साल तक यह बाइक लॉन्च हो जायेगी।

परिवार व खुद के जमा रुपये से बनाई बाइक

बाइक बनाने से पहले अनिकेत ने अपने छह साथियों के साथ मिलकर मस्क मोटर कंपनी बनाई। भागलपुर के अनिकेत राज व राणा ज्योति, झारखंड के अविनाश कुमार व चंदन सिन्हा, सिलीगुड़ी के राज महतो, अभिषेक व इरफान ने मिलकर इसे तैयार किया है। मस्क मोटर कंपनी के सीईओ अनिकेत ने बताया कि सभी ने अपने परिवार, दोस्तों व खुद के जमा रुपये से बाइक बनाई। जब रुपये का अभाव हुआ तो खुद से बाइक के लोहे के कई पार्ट व बाइक का फाइबर ग्लास बनाया। इस बाइक की बैट्री भारत में उपलब्ध नहीं है। विदेश से मांगवाया गया है। इसका आधा सामान भारत में उपलब्ध है।

बाइक में होगी जीपीएस की सुविधा

अनिकेत का दावा है कि यू-ट्यूब व देश के विभिन्न जगहों से बाइक के शौकीन युवाओं को एक साथ जोड़कर 10 माह में बाइक तैयार की गई है। इसमें जीपीएस की सुविधा भी है, जो आपके बाइक की स्क्रीन पर लक्ष्य तक पहुंचने में इंटरनेट के माध्यम से दिशा-निर्देश भी देगा। बाइक 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेगी।

12वीं के बाद छोड़ दी पढ़ाई, अब 200 युवाओं को देंगे रोजगार

नवयुग विद्यालय से 10वीं की परीक्षा पास करने वाले अनिकेत को पिता अनिल कुमार (सिविल इंजीनियर, रेलवे) व मां प्रतिभा कुमारी इंजीनियर बनाना चाहते थे, लेकिन 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद अनिकेत ने पढ़ाई छोड़ दी। अनिकेत ने बताया कि 12-13 साल की उम्र से ही किसी देश की करेंसी, वहां के बिजनेस व टेक्नोलॉजी के बारे में सोचा था। जब अमेरिकन यूनिवर्सिटीज की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे थे तो उस दौरान कई आइडिया पर काम करना शुरू किया।

हेनरी फोर्ड व एलन मस्क से मिली प्रेरणा

अनिकेत बताते हैं कि अमेरिका के हेनरी फोर्ड मोटर कंपनी के संस्थापक थे। उन्होंने कार की इंडस्ट्री को विस्तार दिया। इसके साथ ही टेस्ला कंपनी के सह संस्थापक एलन मस्क को स्टार्टअप किंग कहा जाता है। इनलोगों की प्रेरणा से ही वह बाइक का निर्माण कर सके।

फॉलो : https://www.facebook.com/aniket.raj.3745

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

adv
error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......