" />

बिहार: सरकारी स्कूल में बताया जा रहा आसाराम को संत, किताब में छपी है फोटो

जिले के एक अर्ध सरकारी स्कूल की तीसरी कक्षा की एक पुस्तक में दुष्कर्म के आरोप में सजा काट रहे आसाराम की तस्वीर छपी है। इस किताब में आसाराम को संत के तौर पर पेश कर बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। जिस कारण लोगों में नाराजगी है।

दरअसल, बिहार सरकार के पंजीकृत विद्यालय आरा के भगिनी निवेदिता कन्या विद्यालय की तीसरी कक्षा में पढाई जाने वाली नैतिक शिक्षा एवं सामान्य ज्ञान की पुस्तक “ज्ञान सेतु” के पहले अध्याय में आसाराम की तस्वीर छपी है। आसाराम की तस्वीर उक्त किताब में “देश के प्रसिद्ध संत” पाठ में जहां कबीर दास, गौतम बुद्ध, मदर टेरेसा, गुरु नानक, स्वामी विवेकानंद आदि के साथ छपी है और उसे भी संत बताया गया है।

जानकारी के मुताबिक ये किताब प्रीमियर पब्लिकेशन हाउस द्वारा छापी गई है| यह पुस्तक जिले के तमाम दुकानों पर उपलब्ध है| इस बाबत विद्यालय की प्रधानाध्यापिका कुंदन कुमारी ने उक्त गलती प्रकाशक पर ठहराते हुए कहा कि- इसमें मेरी क्या गलती है, यह प्रकाशक को सोचना चाहिए|

वहीं इस मुद्दे पर जिला शिक्षा पदाधिकारी सूर्य नारायण ने कैमरे पर आने से इनकार करते हुए कहा कि लिखित आवेदन मिलेगा तो कार्रवाई की जाएगी| फिलहाल इस मामले को लेकर लोगों में काफी आक्रोश व्याप्त है|

जिले के एक अर्ध सरकारी स्कूल की तीसरी कक्षा की एक पुस्तक में दुष्कर्म के आरोप में सजा काट रहे आसाराम की तस्वीर छपी है। इस किताब में आसाराम को संत के तौर पर पेश कर बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। जिस कारण लोगों में नाराजगी है।

दरअसल, बिहार सरकार के पंजीकृत विद्यालय आरा के भगिनी निवेदिता कन्या विद्यालय की तीसरी कक्षा में पढाई जाने वाली नैतिक शिक्षा एवं सामान्य ज्ञान की पुस्तक “ज्ञान सेतु” के पहले अध्याय में आसाराम की तस्वीर छपी है। आसाराम की तस्वीर उक्त किताब में “देश के प्रसिद्ध संत” पाठ में जहां कबीर दास, गौतम बुद्ध, मदर टेरेसा, गुरु नानक, स्वामी विवेकानंद आदि के साथ छपी है और उसे भी संत बताया गया है।

जानकारी के मुताबिक ये किताब प्रीमियर पब्लिकेशन हाउस द्वारा छापी गई है| यह पुस्तक जिले के तमाम दुकानों पर उपलब्ध है| इस बाबत विद्यालय की प्रधानाध्यापिका कुंदन कुमारी ने उक्त गलती प्रकाशक पर ठहराते हुए कहा कि- इसमें मेरी क्या गलती है, यह प्रकाशक को सोचना चाहिए|

वहीं इस मुद्दे पर जिला शिक्षा पदाधिकारी सूर्य नारायण ने कैमरे पर आने से इनकार करते हुए कहा कि लिखित आवेदन मिलेगा तो कार्रवाई की जाएगी| फिलहाल इस मामले को लेकर लोगों में काफी आक्रोश व्याप्त है|

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......