" />
Published On: Fri, Jun 26th, 2020

बिहार : लोंकडाउन वाला प्यार.. युवती अपनी सहेली से करती थी प्यार, पति को कहा दे दो तलाक

बिहार के बेगूसराय शहर में एक अजीबोगरीब मामले ने पुलिस को भी सकते में डाल दिया। मामला ही ऐसा था कि पुलिस अधिकारी भी सोच में पड़ गए। आम तौर पर शादी के बाद पति या पत्नी का किसी दूसरी लड़की या लड़के के साथ प्रेम-प्रसंग को लेकर विवाद होता है लेकिन यहां मामला बिल्कुल उलट था।

नव विवाहिता का किसी लड़के से नहीं बल्कि लोंकडाउन में उसकी सहेली से ही प्रेम-प्रसंग चल रहा था। दुल्हन ने अपने पति से साफ-साफ कह दिया कि वह अपनी सहेली के साथ ही रहेगी। अब आपको पूरी घटना विस्तार से बताते हैं।

दरअसल नगर थाना क्षेत्र के पटेल चौक निवासी एक युवक की रांची की एक युवती से परिजनों की सहमति से 14 जून को शादी हुई। युवक अपनी पत्नी को 15 जून को बेगूसराय लेकर आया और शहर के स्टेशन रोड में रहने लगा। शादी के 10 दिनों बाद ही दुल्हन ने अपने पति से कहा की वह उसके साथ नहीं बल्कि अपनी सहेली के साथ रहना चाहती है। युवक को पता चला कि उसकी पत्नी समलैंगिक है। दुल्हन शादी के तीन-चार दिनों बाद से ही अपने पति के साथ अलग-थलग रहने लगी। वह अपनी सहेली से लोंकडाउन में मोबाइल पर घंटो बातें करती थी। लड़की अपनी सहेली से मोबाइल पर घंटों बात करती रहती थी। यही नहीं पति को कहने लगी कि वह उसके साथ नहीं रहना चाहती है।

लड़की ने अपने पति से कहा कि वह उससे प्यार नहीं करती है। कहा वह पहले से अपनी सहेली से प्रेम करती है और उसी के साथ रहना चाहती है। आखिर वही हुआ जिसका युवक को डर था। लड़की की सहेली 25 जून को बेगूसराय पहुंच गई और कहा वह अपनी प्रेमिका को साथ ले जाएगी। उसने पुलिस से गुहार लगाते हुए कहा कि उसकी प्रेमिका को वापस करा दिया जाए। मामला पुलिस तक पहुंचा। थाने में दोनों लड़की एक-दूसरे के साथ रहने की जिद पर अड़ गई। दोनों लड़कियों की जिद के आगे पुलिस और दुल्हन के पति भी बेबस हो गए। युवक अपनी पत्नी को सहेली के साथ जाने देने पर राजी हो गया। थानाध्यक्ष अमरेन्द्र कुमार झा ने बताया कि लड़की और लड़के की रजामंदी के बाद दोनों लड़कियों को साथ भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि नवविवाहिता अपनी सहेली से प्रेम करती थी और उसी के साथ रहना चाहती थी।

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>