" />

बिहार में बस सेवा की तैयारी, इस तारीख से राज्य भर में हर तरह की बसें चलानी शुरू

लॉक डाउन के बाद बिहार में बस सेवा शुरू करने की भी तैयारी है। परिवहन विभाग सरकारी और निजी दोनों तरह की बसों की सेवा शुरू करने की योजना का प्रारूप तैयार कर रहा है। योजना है कि लॉकडाउन -4 यदि 31 मई को खत्म होता है तो जून के पहले हफ्ते से राज्य भर में हर तरह की बसें चलानी शुरू की जाएं।

परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला सोमवार को विभाग के अधिकारियों के साथ में इस मामले पर विमर्श करेंगे और बस सेवा सुचारू रूप से चलाने की योजना को अंतिम रूप देंगे। जरूरत पड़ी तो विभाग इस मामले में प्रमुख निजी बस संचालकों की भी राय लेगा। निजी बस संचालकों ने मांग की थी कि लॉक डाउन के बाद बस का परिचालन समय सारिणी के अनुसार न होकर रोटेशन के अनुसार किया जाए। बस में किसी भी हाल में ओवरलोडिंग नहीं होगी। ओवरलोडिंग करने वाले बस संचालक पर सख्त कानूनी कार्रवाई होगी।

पूरे राज्य में चरणबद्ध रूप से बस सेवा शुरू होगी

परिवहन विभाग की योजना है कि पूरे राज्य में चरणबद्ध रूप से बस सेवा शुरू की जाए। एक बस से दूसरे बस के परिचालन की समय सारिणी में एक घंटे का अंतराल रखा जाए। स्टेप बाई स्टेप सबसे पहले शहरों में नगर बस सेवा शुरू हो। इसके बाद एक जिले से दूसरे जिले और एक शहर से दूसरे शहर में बस सेवा शुरू हो। अंत में लंबी दूरी की बस सेवा शुरू की जाए।

आधी सीटों पर ही यात्री होंगे, किराया बढ़ना तय

बस यात्रा में आधी सीटों पर ही यात्री सवारी करेंगे इसलिए बस किराया बढ़ना तय है। बसों में आधी सीटों पर ही सफर तय करना है। अगर 40 सीटों वाली बसों में 20 यात्री 53 सीटों वाली बसों में 25 और 62 सीट वाली बसों में 30 यात्री ही सफर करेंगे।

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव का हर प्रयास

विभाग के सूत्रों के अनुसार बस यात्रा के दौरान यात्रियों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव का हर संभव प्रयास किया जाएगा। यात्रा के दौरान सामाजिक दूरी का सख्ती से पालन होगा। बस अड्डा को पूरी तरह से सेनेटाइज किया जाएगा। सभी यात्रियों बस ड्राइवर तथा कंडक्टर के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। बस स्टॉपेज व बस अड्डा पर यात्रियों के यात्रियों की मेडिकल स्क्रीनिंग करने के बाद ही बसों में भेजा जाएगा। यात्रियों को बस में बैठने से पूर्व और गंतव्य पर उतराने के बाद बसों को सेनेटाइज किया जाएगा।

रोटेशन सिस्टम

रोटेशन सिस्टम के तहत बस स्टैंड में जो बसें पहले आएगी वह पहले खुलेगी। जैसे- जैसे स्टैंड में बसें आती जाएंगी वैसे -वैसे नियमानुसार बसें बारी बारी से खुलती जाएंगी। इस बीच बसों को सेनिटाइज भी किया जाएगा।

बिहार में 65 हज़ार निजी बसें

बिहार राज्य पथ परिवहन निग्सम के पास कुल 600 बसें। जिनमें 350 बसें पथ परिवहन निगम और 250 बसें पीपीपी मोड़ पर हैं।

लॉक डाउन के बाद रोटेशन के अनुसार बस परिचालन शुरू करने की योजना बन रही है। सोमवार को इस मामले पर विभाग के अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक होगी। – संतोष कुमार निराला, परिवहन मंत्री

राज्य सरकार रोटेशन के तहत बसों का परिचालन शुरू कराए। बस यात्रा में सामाजिक दूरी का सख़्ती से पालन हो और किराया कम से कम दम गुणा किया जाए।
– उदय शंकर सिंह, अध्यक्ष, बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>