" />

रेलवे ने जारी किया अलर्ट: पूर्वोत्तर में छिपे रोहिंग्या बिहार के रास्ते केरल जाने के फिराक में….

म्यांमार से आए रोहिंग्या पूर्वोत्तर के राज्यों से बिहार होकर केरल जाने की जुगत को लेकर खुफिया विभाग की रिपोर्ट के बाद रेलवे ने अलर्ट जारी किया है। रोहिंग्या परिवार सहित ट्रेन से केरल जाने के लिए कबूतरबाजों के संपर्क में है। ऐसे में पूर्वोत्तर राज्यों से बिहार आने वाली ट्रेनों में वे छद्म नाम से जनरल बोगी में सफर कर वे केरल जा सकते हैं। खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि केरल में आई भीषण बाढ़ व तबाही से वहां जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। इसका फायदा उठाकर म्यांमार के रोहिंग्या वहां जाकर घर बनाकर बसने की फिराक में हैं। रिपोर्ट को देखते हुए रेल पुलिस प्रशासन ने नवगछिया व भागलपुर रूट से गुजरने वाली पूर्वोत्तर की सभी ट्रेनों की सख्ती से जांच करने के आदेश दिए हैं।

पूर्वोत्तर से आने वाली सभी ट्रेनों में सख्ती से जांच करने का निर्देश

आरपीएफ के प्रधान मुख्य कमिश्नर ने सभी जोन के आरपीएफ इंस्पेक्टरों को ट्रेनों की गहन जांच का दिया निर्देश

मालदा, साहेबगंज और जमालपुर में भी गहन जांच के दिए निर्देश

आरपीएफ के प्रधान मुख्य कमिश्नर ने सभी जोन के आरपीएफ इंस्पेक्टरों को ट्रेनों की गहन जांच कराने का निर्देश दिया। निर्देश के मुताबिक असम की ओर से आने वाली ट्रेनों से रोहिंग्या केरल में अपना ठिकाना बनाने का प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए असम की ओर से आने वाली सभी ट्रेनों की सूची बनाते हुए प्रमुख स्टेशनों पर सघन जांच किया जाए। पूर्व रेलवे जोन के मालदा, साहेबगंज, भागलपुर व जमालपुर को विशेष सख्ती के निर्देश दिए गए।

भागलपुर आरपीएफ को ब्रह्मपुत्र मेल की गहन जांच करने को कहा

प्रधान मुख्य कमिश्नर के निर्देश पर आरपीएफ कमांडेंट ने सभी आईपीएफ को एक फॉर्मेट दिया है। आरपीएफ इंस्पेक्टर प्रतिदिन जांच के बाद इस फॉर्मेट काे भरकर मुख्यालय को रिपोर्ट भेजेंगे। भागलपुर आरपीएफ को ब्रह्मपुत्र मेल, फरक्का एक्सप्रेस और गुवाहाटी-नई दिल्ली वीकली एक्सप्रेस की गहन जांच को कहा गया है। ट्रेनों में एस्कॉर्ट कर रहे जवानों को कहा गया है कि स्कार्ट के दौरान यात्रियों से भी फीडबैक लें। यदि इस प्रकार का कोई संदिग्ध व्यक्ति दिखे तो उसे तुरंत हिरासत में लेकर जांच किया जाए।


गृह सचिव ने दिया बांग्लादेशी घुसपैठियों पर नजर रखने का आदेश

गृह सचिव ने क्राइम स्पेशल ब्रांच को बांग्लादेशी घुसपैठियों की खोज, पहचान व उन्हें चिह्नित करने के लिए जिले में टास्क फोर्स का गठन करने और निरोध केंद्र बनाने के निर्देश दिए हैं। स्पेशल ब्रांच के एसपी ने जिलों के उच्चाधिकारियों को बांग्लादेशी घुसपैठियों की खोज, पहचान व चिह्नित कर प्रत्येक माह के पहले सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा है। इसकी सूचना गृह विभाग को भी देने को कहा है। गृह सचिव के जारी आदेश की कॉपी प्रमंडलीय आयुक्त, आईजी व डीआईजी को भी भेजी गई है।

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......