नवगछिया : 1 ट्रक पलटा, दूसरे का टूटा गुल्ला, तीसरे का डीजल खत्म, विक्रमशिला सेतु 16 घंटे जाम

विक्रमशिला सेतु पर रविवार तड़के चार बजे से ही जाम लगा। एक ट्रक का गुल्ला टूटा तो एक का डीजल खत्म हो गया। रही-सही कसर तब पूरी हो गई, जब नवगछिया की ओर ओवरटेक के कारण एक ट्रक पलट गया। इससे जाम लगा और समय के साथ बढ़ता ही गया। पुलिसकर्मियों ने िनयंत्रित कर ट्रैफिक खुलवाए, लेकिन रुक-रुककर 16 घंटे विक्रमशिला सेतु जाम की चपेट में रहा। रात 8 बजे तक वाहनों की रफ्तार नहीं बढ़ी।

तड़के 4 बजे एक ट्रक नगछिया की ओर पलटा। इससे हाईवे पर गाड़ियों की रफ्तार पहले कम हुई। फिर पहिए थम गए। सुबह 8 बजे तक ट्रक वैसे ही पड़ा रहा। इसके बाद पुलिस-प्रशासन ने ट्रक हटाया तो जाम खुला। लेकिन घंटाभर बाद ही सुबह 9 बजे सेतु पर एक ट्रक का डीजल खत्म हो गया। फिर पुल पर वाहनों के पहिए थम गए। बसें, बाइक, छोटे वाहन जाम में फंसे रहे। दोपहर 1 बजे तक पुल पूरी तरह जाम रहा। ट्रैफिक डीएसपी ओमप्रकाश अरुण व इंस्पेक्टर केके शर्मा मौके पर पहुंचे। दोपहर दो बजे सेतु को वन-वे कर ट्रैफिक चालू कराया। लेकिन शाम 5 बजे सेतु के पाया नंबर 126 पर बालू से लदे ट्रक का गुल्ला टूट गया। इससे फिर जाम लग गया। रात 8 बजे तक लंबा जाम रहा।

सबौर, घोघा, नवगछिया, जगदीशपुर तक जाम

जाम का असर नवगछिया से जगदीशपुर तक रहा। जवारीपुर के सुनील कुमार ने बताया, घोघा में भी लंबा जाम था। वे 3 घंटे फंसे रहे। बाइक के लिए भी रास्ता नहीं मिला। पुलिस ने वन-वे किया, तब धीरे-धीरे गाड़ी निकली।

इंटर परीक्षा तक रोज पुल पर 2 घंटे ट्रक नहीं चलेंगे

इंटर परीक्षा सोमवार से होगी। इसके लिए प्रशासन ने शहर में ट्रैफिक व्यवस्था बेहतर करने का निर्देश दिया है। विक्रमशिला सेतु जाम न हो, इसलिए पुल पर 13 फरवरी तक सुबह 8 बजे से 10 बजे तक ट्रक नहीं चलेंगे। भागलपुर से आने वाले ट्रक बायपास व नवगछिया से आने वाले ट्रक जाह्नवी चौक पर रोके जाएंगे। इस बीच बाइक से पेट्रोलिंग भी होगी।

बढ़ा दिए हैं अतिरिक्त फोर्स : ट्रैफिक डीएसपी

सेतु पर रविवार तड़के 4 बजे जाम लगा। पुल पर तीन शिफ्ट में ट्रैफिक कंट्रोल को 24 जवान लगाए हैं। 15 बीएमपी जवान भी अलग से लगाए हैं। – ओमप्रकाश अरुण, डीएसपी, ट्रैफिक

सेंटर देखने आए कई परीक्षार्थी जाम में फंस गए

जाम में इंटर के कई परीक्षार्थी भी फंसे। नवगछिया, नारायणपुर, रंगरा, गोपालपुर के कई छात्र सोमवार से होने वाली परीक्षा के लिए केंद्र देखने पहुंचे थे। वे सुबह 9 बजे घरों से निकले, लेकिन 4 घंटे जाम में फंस गए। पूर्णिया, सहरसा, मधेपुरा, खगड़िया समेत अन्य रास्तों पर दौड़ने वाली बसें भी फंसी। यात्रियों को पुल पर बस से उतर पैैदल ही निकलना पड़ा। तिलकामांझी के विनोद कुमार बहन के घर नवगछिया नहीं जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *