" />
Published On: Tue, Mar 24th, 2020

नवगछिया : लोकडॉन के बाद बाजार को प्रशासन ने कराया बंद, खुल रही थी दुकानें.. स्टेशन पर सन्नाटा -Naugachia News

नवगछिया : कोरोना वायरस को लेकर सरकार द्वारा लोकडॉन किए जाने के बाद लोग काफी सतर्क हो गए हैं. जनता कर्फ्यू के बाद बिहार सरकार द्वारा लोकडॉन डाउन किए जाने के बाद लोगों ने और भी ज्यादा सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है. सोमवार को जहां लोगो ने सुबह अपनी अपनी दुकानें शुरू की ही थी कि प्रशासन स्तर से बिना आवश्यकता वाले दुकानों को बंद करवाया. सोमवार की सुबह नवगछिया एसडीओ मुकेश कुमार, एसडीपीओ प्रवेंद्र भारती शहर में घूम घूम कर दुकानदारों को अपनी अपनी दुकान बंद कर अपने अपने घरो में रहने की अपील की. प्रशासन के गतिविधियों को देखते हुए सोमवार को भी पूरे दिन नवगछिया अनुमंडल के सभी छोटे बड़े बाजारों की अधिकांश दुकान बंद रही. बाजार के बंद होने के कारण लोग अपने अपने घरों में पूरे दिन पड़े रहे. आवश्यक कार्य से ही लोग अपने अपने घरों से बाहर निकल रहे थे. लोकडॉन किए जाने के कारण प्रशासन स्तर से भी लगातार गतिविधि करते नजर आ रही थी. लोगो को इस महामारी से बचने के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी निर्देश का पालन करने का निर्देश दे रही थी. नवगछिया शहर में पूरे दिन दुकान तो बंद रही लेकिन संध्या समय अधिकांश दुकानदार ने अपनी दुकान खोल दी थी.

– बस स्टैंड, स्टेशन पर छाया रहा सन्नाटा

सरकार के द्वारा लोकडॉन की घोषणा कर दिए जाने के कारण सड़को पर वाहनो का परिचालन पूरी तरह से बंद देखा गया. लेकिन कुछ वाहने लोकडॉन की घोषणा के बाद भी चलती नजर आई. आदेश के बाद भी वाहनो के परिचालन होने पर प्रशासन स्तर से वैसे वाहनो को जब्त भी किया गया. नवगछिया पुलिस ने सरकार के आदेश के बाद भी वाहनों के परिचालन होने से आधा दर्जन से अधिक वाहनों को जब्त किया है. सबाड़ी वाहनो के परिचालन नहीं होने के कारण बस व ऑटो सड़क के किनारे जहां तहां खड़ी कर चालक अपने अपने घर को चले गए हुए थे. इधर ट्रेन का परिचालन बंद होने के कारण नवगछिय स्टेशन पर पूरी तरह से संपन्न छाया रहा.

– पैदल यात्रा करने को विवश दिखे लोग

वाहनों के परिचालन नहीं होने के कारण जिन लोगों को आवश्यक कार्य के लिए कही जाना आना था वैसे लोगो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. लोग वाहन को रिजर्व लेकर अपने आवश्यक कार्य को पूरा कर रहे है या अपने निजी वाहनों को प्रयोग कर रहे हैैं. कुछ लोगो को तो वाहनो के परिचालन नहीं होने से कई किलोमीटर तक पैदल ही यात्रा करना पड़ रहा है.

– लोकडॉन घोषित होने के बाद भी नवगछिया में खुली रही दुकानें

कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए पूरे बिहार के सभी जिलों को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोकडॉन किया है. वहीं दूसरी तरफ नवगछिया बाजार में लोकडॉन उल्लंघन दुकानदारों के द्वारा धड़ल्ले से किया जा रहा है. दुकानदार खुलेआम अपनी दुकान खोल कर अपना समान बेच रहे हैं. दुकान के खुले रहने के कारण बाजार में लोगों की आवाज जाही काफी है. स्थानीय लोगो का कहना है कि मेडिकल व राशन पानी की दुकान व सब्जी फल कक दुकान खुलने चाहिए लेकिन अनावश्यक दुकान खुलने से शहर में भीड़ जमा हो रही है. लोगों ने कहा कि अगर यही स्थिति रही तो सरकार के द्वारा कोरोना वायरस महामारी को भगाने के लिए लगाए गए लौकडॉन कैसे कारगर साबित हो पाएगा. शहर के लोगो ने इस दिशा में पुलिस प्रशासन से पहल करने की मांग की है. लोगों ने कहा कि सिर्फ आवश्यक सेवा के आलावे सभी दुकानें बंद रहेगी तो शहर में लोगों की आवाजाही कम होगी.

– लोकडॉन को लेकर लोगो ने की राशन की खरीदारी

सरकार के द्वारा 31 मार्च तक लोकडॉन के आदेश जारी कर दिए जाने के बाद सोमवार की सुबह किराना दुकानों में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी थीं. सरकार के निर्देश को देखते हुए लोग पिछले 15 दिनों के लिए घर के राशन की व्यवस्था करने में जुटे दिखे.

– जेल में बंद बंदियों के लिए दिया मास्क

कोरोना वाइरस के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए सोमवार को नवगछिया के समाजसेवी विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण भगत व बाबा गणिनाथ सेवा समिति के अध्यक्ष पंकज कुमार भारती एवं एकयुप्रेशर, फिजयोथेरेपी एवं योग चिकित्सा केन्द्र के संचालक डॉ दीपक कुमार के सहयोग से अनुमंडल कारा नवगछिया मे बंदियों एवं कारा कर्मीयों के लिए बचाव के लिए कारा अधीक्षक ओम प्रकाश शांतिभूषण को दो सौमास्क दिया गया. इस मौके पर कारा अधीक्षक ओमप्रकाश शांतिभूषण, लिपीक सह उपाधिक्षक चन्द्रदेव सिंह, परिधापक (मेडिकल स्टाप) विकास कुमार पाण्डेय, कम्प्यूटर ऑपरेटर पंकज कुमार रंजन समाजसेवी प्रवीण भगत, पंकज कुमार भारती, डॉ दीपक कुमार एवं अन्य सुरक्षा बल मौजूद थे. इस कार्य के कारा अधीक्षक ने इस नेक कार्य के लिए तीनों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया एवं भविष्य के लिए मंगल शुभकामनायें दी.

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......