नवगछिया में बड़ा हादसा.. सो रहे 3 बच्चे को ट्रक ने रौंदा, ..अस्पताल भेजा – Naugachia News

नवगछिया : परवत्ता थाना क्षेत्र के विक्रमशिला सेतु पहुंच पथ पर गुरूवार की बीती रात जाह्नवी चौक के पास नवगछिया की ओर जा रहे गिट्टी से ओवरलोड एक अनियंत्रित ट्रक झोपड़ी में जा घुसा, जहां सो रहे तीन मासूम बच्चों की दर्दनाक मौत ट्रक के नीचे दबने से हो गयी. हादसे में दो अन्य बच्चे और उनके माता पिता बाल बाल बच गये हैं जबकि इस घटना में दो मवेशी भी काल कवलित हो गये हैं.

हादसे के तुरंत बाद बड़ी संख्या में पहुंचे स्थानीय लोगों ने विक्रमशिला सेतु पथ पर आवागमन को पूरी तरह से ठप कर दिया. मृतक तीनों बच्चे 14 वर्षीय सूरज कुमार, 11 वर्षीय चंदा कुमारी और नौ वर्षीय पूजा कुमारी है. तीनों खरीक थाना क्षेत्र के फरीदपुर निवासी चंद्रदेव मंडल और करी देवी की संतान हैं. जबकि इस घटना में दंपत्ति चंद्रदेव मंडल और कारी देवी समेत उनके दो अन्य पुत्र पुत्री क्रमश: हिमांशु कुमार और सोनाक्षी कुमारी बाल बाल बच गये हैं.

तीनों बच्चों का शव ट्रक के नीचे बुरी तरह से फंसा हुआ था. मौके पर पहुंची पुलिस ने किरान मंगवा कर ट्रक को हटाया फिर तीनों बच्चों के शव को बाहर निकाला गया. घटना की सूचना पर स्थल पर इस्माइलपुर सीओ सुरेंद्र प्रसाद, परवत्ता थानाध्यक्ष अनि रामचंद्र, नवगछिया थानाध्यक्ष राजकपूर कुशवाहा दल बल के साथ मौके पर पहुंच कर लोगों को जाम हटाने के लिए लोगों को समझाया बुझाया तो स्थल पर इस्माइलपुर, गोपालपुर, खरीक थानों की पुलिस भी पहुंच चुकी थी. इस्माइलपुर सीओ द्वारा परिजन को मुआवजा दिये जाने का आश्वासन देने के बाद स्थानीय लोगों ने जाम हटाया फिर पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडलीय अस्पताल भेजा और इस्माइलपुर सीओ ने पशु चिकित्सा पदाधिकारी को हादसे में मरी एक बाछी और एक बकरी का भी पोस्टमार्टम कराने का निर्देश दिया है.

चंद्रदेव मंडल ने बताया कि वे लोग खरीक के फरीदपुर गांव के निवासी हैं. गंगा कटाव में घर कट जाने के बाद करीब दस साल से जाह्नवी चौक पर ही एक झोपड़ी बना कर चाय नाश्ते की दुकान चलाते हैं और दुकान में ही उनका पूरा परिवार रहता था. देर रात करीब दो बजे एका एक जोर दार आवाज हुई तो देखा कि ट्रक उनके घर में घुस गया है और तीन बच्चे ट्रक के नीचे दब गये हैं और दो बच्चे दस फीट की दूरी पर जा गिरे हैं. तुरंत वे सभी बाल बाल बचे लोग बाहर निकाले, ट्रक के नीचे दबे तीनों चीख भी नहीं पा रहे हैं. जोरदार आवाज सुन कर मौके पर कई स्थानीय दुकानदार आ गये थे.

स्थानीय लोगों ने मौके से भाग रहे ट्रक के खलासी को धर दबोचा जिसे बाद में पुलिस के हवाले किया गया. कहा जा रहा है कि ट्रक चालक गहरी निंद में था और विक्रमशिला सेतु से महज सौ मीटर परिचालन के बाद ट्रक झोपड़ी में जा घुसा था. ट्रक जेएच 02 एम 8725 झारखंड का बताया जा रहा है. जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है. घटना के बाद लोग काफी आक्रोशित थे जिन्होंने सड़क जाम कर दिया. करीब छ: घंटे सेतु पथ जाम रहा. फिर वन वे परिचालन कर वाहनों का निकाला जा रहा था. मामले में प्राथमिकी दर्ज किये जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. इस्माइलपुर के सीओ सुरेंद्र प्रसाद ने बताया कि घटना काफी दुखद है. आपदा विभाग के सरकारी प्रावधानों के अनुसार मृतक के परिवार को समुचित मुआवजा दिलवाया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *