0

नवगछिया: मास्टरमाइंड की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने पूरी ताकत दी झोंक, कटिहार से खगड़िया तक छापेमारी -Naugachia News

नवगछिया: चर्चित सोनू राय हत्याकांड का मास्टरमाइंड कुख्यात राकेश राय व शूटर पुरोषत्तम कुमार उर्फ छोटुवा की गिरफ्तारी के लिए नवगछिया पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी है। एसडीपीओ प्रवेंद्र कुमार भारती के नेतृत्व में गठित एसआईटी दोनों की गिरफ्तारी के लिए पिछले दो दिन से कटिहार से लेकर किशनगंज, खगड़िया तक लगातार संभावित ठिकानों पर छापामारी कर रही है। हालांकि अब तक दोनों कुख्यात पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं। पर पुलिस का दावा है कि शीघ्र ही दोनों को दबोच लिया जाएगा। पुलिस कुख्यात राकेश का मोबाइल सर्विलांस पर रखकर लगातार लोकेशन की पड़ताल कर रही है। पुलिस सूत्राें की मानें ताे छोटुवा और राकेश राय हर दो-तीन घंटे में अपना लोकेशन बदल रहे हैं। एसटीएफ के साथ गठित एसआईटी छापेमारी में जुटी हुई है।

नवगछिया एसपी निधि रानी ने कहा कि पुलिस आरापियों की गिरफ्तारी को एक चुनौती के रूप में लिया है। हर हालत पुलिस सभी अपराधियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज देगी। सोमवार को पुलिस कोर्ट से सभी अपराधियों के विरूद्ध वारंट निर्गत करवाने के लिए पहल करेगी। इधर, घटना के चौथे दिन रविवार को भी सोनू राय के गांव तुलसीपुर में मातम छाया हुआ था। एक ओर परिजनों में जहां गम और दशहत है वहीं ग्रामीण के बीच भी यह चर्चा लगातार हो रही है। बताते चलें कि 17 अक्टूबर को सुबह करीब आठ बजे खरीक जिप सदस्य गौरव राय के बड़े भाई सोनू राय को चुनावी रंजिश में अपराधियों ने दौड़ा-दौड़कर गोलियों से भून डाला था।

घटना के बाद जिप सदस्य गौरव राय ने गांव के कुख्यात राकेश राय, शूटर पुरुषोत्तम कुमार उर्फ छोटुवा और राकेश राय के बेटा मुरलीधर राय सहित छह के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है। मुरलीधर राय को पुलिस ने वारदात के चार घंटे बाद ही गिरफ्तार कर लिया था। दूसरी ओर रविवार को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला संयोजक निरंजन चौधरी के नेतृत्व में पार्टी की एक टीम तुलसीपुर स्थित सोनू राय के आवास पर पहुंचे और उनके परिजनों को सांत्वना दी। वहीं एमएलसी मनोज यादव भी जिला परिषद गौरव राय से घटना की पूरी जानकारी ली और मौके से ही एसपी से बात कर सभी आरोपियों को गिरफ्तारी की मांग की। उन्हाेंने कहा कि अपराधियों पर हर हालत लगाम लगना चाहिए। उनके साथ जगतपुर के मुखिया प्रदीप यादव, मुखिया रविंद्र यादव, छोटू यादव, किन्नी आनंद आदि थे।

सोनू हत्याकांड की जांच के लिए गठित एसआईटी में शामिल खरीक थानेदार को मोबाइल पर जान मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है।शनिवार की देर शाम थानेदार के मोबाइल पर 8051952125 नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को राकेश राय बताते हुए कहा कि मेरे बेटे का तीस दिन के अंदर बेल कराओ। वरना जान से हाथ धो बैठोगे।

न्यूज़ डेस्क

न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *