" />
Published On: Tue, Jan 14th, 2020

नवगछिया : बाढ़ राहत राशि को चक्कर लगा रहे इस्माइलपुर के 3000 पीड़ित परिवार बाढ़ -Naugachia News

इस्माइलपुर प्रखंड में आई गंगा नदी के बाढ़ से प्रभावित हुए करीब 3000 पीड़ित परिवार बाढ़ अनुदान राशि के लिए पांच माह से चक्कर काट रहे हैं, लेकिन अब तक उन्हें भुगतान नहीं किया गया है। इससे वंचित लोगों में प्रशासन के प्रति आक्रोश गहराता जा रहा है। सोमवार को इस्मालपुर जिप सदस्य विपिन मंडल की अध्यक्षता में बाढ़ पीड़ितों ने बैठक की। बैठक में राहत राशि नहीं मिलने पर नाराजगी जताते हुए पीड़ितों ने कहा कि अगर जल्द भुगतान नहीं हुआ तो हम आंदोलन करने को बाध्य होंगे।

वहीं जिप सदस्य विपिन मंडल ने बताया कि प्रखंड के सभी पंचायतों में बाढ़ अनुदान राशि से वंचित हैं। लोगों के खाते में बाढ़ के बाद भी राशि नहीं पहुंची है। उन्होंने बताया कि प्रखंड के लक्ष्मीपुर नारायणपुर, परबत्ता, पूर्व भिट्ठा, पश्चिमी भिट्ठा के 30 से 40 प्रतिशत लाभुक वंचित हैं। जबकि कमलाकुंड में 15 प्रतिशत बाढ़ पीड़ितों को राशि नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि अनुमंडल अनुश्रवण समिति की बैठक में इस समस्या को रखा था, लेकिन इस दिशा में कोई पहल नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि अंचल स्तर से 84 सौ लोगों की सूची भेजी गई थी। लेकिन कितने लोगों के खाते में अनुदान की राशि भेजी गई यह भी स्पष्ट नहीं हो पाया है। बाढ़ अनुदान राशि से वंचित लोगों को राशि का भुगतान हो इस संबंध में वे जिलाधिकारी को आवेदन देंगे। इसके बाद भी भुगतान नहीं हुआ तो हम पीड़ितों के साथ आंदोलन करेंगे।

खाते में गड़बड़ी के कारण ट्रांसफर नहीं हुई राशि : सीओ

इस संबंध में इस्माइलपुर सीओ सुरेश प्रसाद ने कहा कि पंचायत अनुश्रवण समिति से पीड़ितों की सूची भेजी गई थी। उस सूची के आधार पर ही पूरे अंचल के 8422 बाढ़ पीड़ितों की सूची भेजी गई थी। जिसे पटना से ही राशि का आवंटन किया गया है। इसमें कुछ लोगों के अकाउंट में गड़बड़ी के कारण उनके खाते में राशि नहीं आई हो यह हो सकता है। लेकिन अधिकांश लोगों के खाते में राशि ट्रांसफर कर दी गई है। अगर कुछ लोगों के खाते में राशि ट्रांसफर नहीं हुई है तो इसकी जांच कराई जाएगी।

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>