1

नवगछिया : पुलिस अफसरों की पूछताछ में गिरफ्तार छोटुवा ने कई सनसनीखेज किया खुलासा -Naugachia News

नवगछिया के वरीय पुलिस अफसरों की पूछताछ में गिरफ्तार छोटुवा ने कई सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि छोटुवा मकंदपुर गांव के एक बड़े व्यवसायी की हत्या की सुपारी ली थी। व्यवसायी की हत्या करने के लिए वह रेकी भी कर रहा था। अगर उसकी गिरफ्तारी नहीं होती तो वह बड़ी वारदात को अंजाम दे देता। छोटुवा ने यह भी स्वीकार किया कि पिछले दिनों उसने कटावरोधी कार्य करा रहे ठेकेदार से भी पांच लाख की रंगदारी मांगी थी। इसके अलावा गोपालपुर के एक जनप्रतिनिधि से भी पांच लाख की रंगदारी मांगी थी।
दूसरी ओर पुलिस कटिहार के सोनू झा के बारे पता लगा रही है जिससे कारबाइन खरीदने की बात छोटुवा ने पुलिस को बताया है।

पुलिस यह भी पता कर रही है कि सोनू के पास कारबाइन कहां से आया। छोटुवा से पूछताछ में इस बात का भी खुलासा हुआ है कि इलाके के सफेदपोशों से प्रत्यक्ष रूप से जुड़ा हुआ था। इन्हीं सफेदपोशों के माध्यम से उसे सुपारी मिलती थी। लेकिन उसने बातचीत के लिये वह सामान्य कॉलिंग के बजाय व्हाट्एप पर ऑडियो कॉलिंग करता था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि ऐसे सफेदपोशों पर नजर रखी जा रही है। मालूम हो कि नवगछिया में आतंक का पर्याय बन चुके छोटुवा पर 50 हजार का इनाम था। सिर्फ नवगछिया पुलिस जिले में उसपर 24 विभिन्न मामले दर्ज हैं। जिसमें डबलू यादव हत्याकांड, सोनू राय हत्याकांड, कुरसेला के भट्ठा व्यवसायी हत्याकांड, लालन साह हत्याकांड, विनोद यादव हत्याकांड व राजभर यादव हत्याकांड प्रमुख हैं।

गिरोह के अन्य साथियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी

छोटुआ के गिरोह के अन्य साथियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। इसके लिए दियारा इलाके में बुधवार को भी पुलिस ने कई जगहों पर धावा बोला। हालांकि पुलिस के पहुंचने से पहले ही अपराधियों ने अपना ठिकाना बदल लिया था। नवगछिया थानाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। जल्द ही कुछ बड़े अपराधी पुलिस की गिरफ्त में होंगे। दूसरी ओर छोटुवा की गिरफ्तारी के बाद इलाके के किसान और व्यवसायियों ने राहत की सांस ली है। बताते चलें कि छोटुवा के दहशत से दियारा के किसान काफी भयभीत थे। अिधकांश किसान अपने खेतों में लगी फसल की कटाई करने भी नहीं जा रहे थे।

24 मामले नवगछिया के विभिन्न थानों में दर्ज हैं

पुलिस और अपराधियों के बीच हुई मुठभेड़ में बाइक से भागे तीनों अपराधियों की पहचान कर ली गयी है। इसमें मधेपुरा जिला के आलमनगर थाना क्षेत्र के सपरदह गांव निवासी वरुण कुमार, गोपालपुर के लत्तरा निवासी राहुल यादव और पचगछिया निवासी साजन सिंह हैं। नवगछिया थानाध्यक्ष राजकपूर कुशवाहा ने बताया कि तीनों अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। दूसरी तरफ वरीय पदाधिकारियों के निर्देश पर छोटुवा के विरूद्ध जघन्य मामलों में स्पीडी ट्रायल चलावाने की कवायद भी शुरू कर दी गयी है।

मेडिकल जांच के बाद जेल भेजे गए तीनों अपराधी

कोरोना संक्रमण को देखते हुए पुलिस मुठभेड़ में दबोचे गये तीनों अपराधियों पुरुषोत्तम कुमार उर्फ छोटुवा, वरुणजय ठाकुर और राजेश यादव का स्क्रीनिंग के बाद मेडिकल चेकअप भी अनुमंडलीय अस्पताल के चिकित्सकों द्वारा किया गया। डॉक्टरों द्वारा आश्वस्त किये जाने के बाद तीनों को न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

Input: Hindustan

न्यूज़ डेस्क

न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

One Comment

  1. इस न्यूज़ में नवगछिया और आसपास की घटनाओं की जानकारियां निष्पक्षता के साथ होती हैं। धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *