" />
Published On: Tue, Dec 10th, 2019

नवगछिया : देर शाम दफनाये गया मिथुन का शव को बाहर निकला, हुआ पहचान.. डीएनए के लिए गया सैंपल -Naugachia News

नवगछिया : नवगछिया के नया टोला स्थित बांस के बिट्टे से चार दिसंबर को बरामद अज्ञात शव का औपचारिक शिनाख्त पुलिस स्तर से पूरी कर ली गयी है. शव नवगछिया के नया टोला निवासी मिथुन कुमार पिता स्व प्रभाकर राय का ही है. परिजनों द्वारा सर्वप्रथम तस्वीर, लाकेट और कपड़ों को देख कर मिथुन की शिनाख्त की गयी फिर पुलिस ने न्यायालय के निर्देश पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी प्रकाश सिन्हा की उपस्थिति में देर शाम दफनाये गये शव को बाहर निकाला गया और डीएनए सैंपल लेने की प्रक्रिया के बाद शव परिजनों को सुर्पुद कर दिया गया. डीएनए सैंपल अनुमंडल अस्पताल के चिकित्सक ने नवगछिया के अंचलाधिकारी विद्यानंद राय की उपस्थिति में लिया. मालूम हो कि चार दिसंबर को मिले शव को पुलिस स्तर से नियमत: 72 घंटे तक रखने के बाद, शिनाख्त नहीं होने की स्थिति में दफना दिया गया था. पुलिस ने शव के साथ बरामद सामग्री कपड़े, लॉकेट के साथ घटना स्थल से लेकर पोस्टमार्टम के बाद तक की तस्वीर को सुरक्षित रखा था. परिजनों ने बताया कि मिथुन के हाथ पर गोदना से उसकी पत्नी नवीता लिखा हुआ था. तस्वीर में यह स्पष्ट दिखता था. साथ ही पुलिस स्तर से सुरक्षित किया गया कपड़ा और लॉकेट मिथुन का ही है. मिथुन के भाई उत्तम कुमार और मां शांति देवी ने शव की विधिवत शिनाख्त की है.

पहले ही आस्वस्त थे परिजन शव मिथुन का ही है

परिजनों ने मिथुन के शिनाख्त में भले ही देरी कर दी हो लेकिन जब परिजन सामने आये तो परिजन आस्वस्त थे कि शव मिथुन का ही है. मिथुन के भाई ने अपने स्तर से घटना स्थल पर जा कर छानबीन कर मिथुन का एक चप्पल भी बरामद किया था. परिजनों का कहना है कि मिथुन और उसका भाई उत्तम दोनों रासोईया का काम करता था. 21 को मिथुन घर आया था. उसने बताया था कि गौतम नाम के रसोइयों के मेठ से तीन सौ रूपया लिया है उसे काम पर जाना है. मिथुन काम पर चला गया लेकिन फिर वह कभी वापस नहीं आया.

आस पड़ोस के ही हैं हत्यारे

मिथुन के शव की शिनाख्त हो जाने के बाद अब सवाल उठता है कि पेशे से रासोईया का काम करने वाले मिथुन की हत्या क्यों कर दी गयी. पुलिस भी इस सवाल का जवाब ढ़ूढ़ने में जुट गयी है. मालूम हो कि जिस जगह से शव बरामद हुआ है वहां पर शव को ले जा कर फेंकना असंभव प्रतीत होता है क्योंकि महज दो सौ मीटर दूर एसपी कोटी तो दूसरी तरफ रेलवे स्टेशन है. अन्य दिशाओं में घनी आबादी है. स्पष्ट है कि हत्यारों ने मिथुन की हत्या उसी स्थल पर की है जहां से उसका शव बरामद हुआ है. परिजनों का कहना है कि उसके परिवार से किसी को वैसी दुश्मनी नहीं थी कि बात हत्या तक आ पहुंचे. हत्या के बारे में मिथुन की पत्नी नवीता भी कुछ भी बता पाने में असमर्थ है. मालूम हो कि मिथुन की पत्नी लंबे समय से अपने मायके में थी. हत्या की आशंका होने के बाद वह नया टोला आयी है. सूत्रों से यह भी पता चला कि मिथुन की हत्या का कारण पारिवारिक विवाद हो सकता है तो दूसरी तरफ हत्या के कारणों में अवैध संबंध होने की बात भी चरचा में है. हालांकि पुलिस का कहना है कि अभी इस मामले में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी. पुलिस छानबीन कर रही है जल्द ही हत्यारे सलाखों के पीछे होंगे.

थानेदार ने कहा

नवगछिया थाने के थानेदार राजकपूर कुशवाहा ने कहा कि शव की शिनाख्त हो गयी है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. प्रथम चरण में परिजनों से पूछ ताछ की जा रही है. जल्द ही मामले का उद्भेदन कर लिया जायेगा.

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>