नवगछिया : देर रात तक घरों से नहीं निकले लोग, सड़कों पर सन्नाटा.. 32 संदेहास्पद लोगों की हुई जांच -Naugachia News

नवगछिया : पीएम मोदी की अपील पर प्रभावी हुए जनता करफ्यु पूरी तरह से सफल हुआ. नवगछिया के लोग इसके लिए पूरी तरह से तैयार थे. यही कारण रहा सुबह सूरज की पहली पौ फूटते ही नवगछिया बाजार, नवगछिया स्टेशन सहित कई सरकारी और गैरसरकारी संस्थान पूरी तरह से निर्जन हो गये. पांच बजे लोगों ने थाली, ताली, ढोल और शंख बजा कर चिकित्सक, स्वास्थ्य कर्मियों, मीडिया कर्मियों और सफाई कर्मियों के सम्मान दिया. नवगछिया में लोगों को जहां भी मीडियाकर्मी या सफाईकर्मी दिखे लोगों ने ताली बजा कर उनका अभिवादन किया.

दिन में तीन से चार बार नवगछिया स्टेशन पर कुछ ट्रेनों की आवाजाही हुई तो कुछ लोग जरूर उतरे, भीड़ का माहौल दिखा लेकिन दस मिनट में फिर नवगछिया स्टेशन निर्जन हो गया. नवगछिया बाजार में एक भी दुकानें खुली नहीं थी. राजनीति दलों की बंदी में नवगछिया में चाय पान की दुकानें खुली रहती थी लेकिन नवगछिया में एक भी चाय पान की दुकानें भी जनता करफ्यु में खुली नहीं दिखी. लोगों को उम्मीद थी कि शाम पांच बजे के बाद नवगछिया बाजार में चहल पहल का माहौल दिखेगा लेकिन लोग पांच बजे के बाद भी अपने घरों से बाहर नहीं निकले. नवगछिया राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी नहीं के बराबर वाहनों का परिचालन था

नवगछिया स्टेशन पर 32 संदेहास्पद लोगों की जांच

जनता करफ्यु को लेकर कटिहार बरौनी रेल खंड की अधिकांश ट्रेनों को रद कर दिया गया है. लेकिन कुछ आवश्यक ट्रेनों का परिचालन किया गया था. नवगछिया स्टेशन पर विभिन्न ट्रेनों से उतरे कुल 150 लोगों की प्रारंभिक जांच के बाद 32 लोगों को संदेहास्पद पाया गया. जिनका विशेष जांच किया गया. इधर नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में भी कुछ छ: कोरोना संदेहास्पद लोगों की जांच की गयी. जिसमें एक व्यक्ति को रेफर किया गया. नवगछिया अनुमंडल अस्पताल से सिंधिया मकंदपुर निवासी चंदन चौधरी की पत्नी करिश्मा देवी को बेहतर जांच के लिए जेएलएनएमसीएच रेफर किया गया. खरीक के भवनपुरा गांव में हैदराबाद से आये तीन लोगों मुरली मंडल, नंदन कुमार, शंकर रजक का भी अनुमंडल अस्पताल में जांच कराया गया.

जानकारी के अनुसार तीनों हैदराबाद में रहते हैं. कोरोना को लेकर वे लोग गांव आ रहे थे. गांव आते ही मुखिया के साथ ग्रामीणों ने तीनों को जांच करवाने अन्यथा गांव में घुसने नहीं देने की बात कही. तीनों की जांच की गयी, नेगेटिव पाये जाने पर तीनों को गांव में इंट्री दी गयी. नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल में नवगछिया जिला पुलिस के दो सिपाहियों सूरज कुमार, दीपक कुमार की भी जांच की गयी. दिन भर अफवाहों का बाजार गर्म रहा. नवगछिया के मस्जिद रोड में संदिग्ध मामला देखा गया और स्थानीय लोगों की सूचना पर स्वास्थ्य विभाग के कर्मी अलर्ट हुए्.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......