नवगछिया : गुवारीडीह में मिले पुरातत्व अवशेष की जानकारी CM ने लिया.. बिहपुर के अच्छे दिन आने वाले

नवगछिया : बिहपुर विधानसभा के विधायक ई कुमार शैलेन्द्र ने सोमवार को जयरामपुर के गुवारीडीह टीले से मिल रहे पुरावशेषों का जायजा लिया. बिहपुर विधायक ने सर्वप्रथम जयरामपुर हाईस्कूल के पास ग्रामीण अविनाश द्वारा संग्रहित किए गए बड़ी मात्रा में पुरावशेषों का अवलोकन किया फिर कोसी तट पर स्थित गुवारीडीह टीले का भी जायजा लिया. वहां उन्हें भी मृदभांड, पुराने सिक्के, घड़ा व बड़े चूल्हे का आकार व कारीब दस फीट मोटी दीवार आदि देखने को मिला. विधायक ने इस बात की जानकारी तुरंत मौके पर से ही सीएम कार्यालय को दिया. जिसके कुछ बाद ही सीएम कार्यालय से सीएम नीतीश कुमार का फोन विधायक को आया. विधायक श्री शैलेंद्र ने सीएम को यहां के करीब ढाई-तीन हजार साल पहले समृद्ध व विकसित हुई संभवत: चंपा सभ्यता के मिल रहे अवशेषों की जानकारी दी.

विधायक ने सीएम को उक्त स्थल की पुरातात्विक विभाग द्वारा खुदाई एवं यहां मिल रहे अवशेषों के संरक्षण व विश्लेषण को आवश्यक बताया साथ ही सीएम को गुवारीडीह आकर यहां मिल रहे अवशेषों को स्थलीय अवलोकन करने का भी आग्रह किया. इस पर सीएम ने साकारात्मक पहल व गुवारीडीह आने का भरोसा दिया. साथ ही विधायक को पूरे मामले से पुरातात्विक विभाग के राज्य सचिव अवगत करा देने को कहा. सीएम के निर्देश पुरातात्विक विभाग के राज्य सचिव अनुपम कुमार ने भी तुरंत फोन कर विधायक श्री शैलेंद्र से गुवारीडीह में मिल रहे अवशेषों के बारे में जानकारी लिया व उनसे स्थलीय फोटो व वीडीओ भी मंगवाए.

विधायक ने कहा – सबसे पहले गुवारीडीह को कटाव से बचाया जाएगा

जल्द ही जल संसाधन विभाग की टीम करेगी स्थलीय सर्वेक्षण

बिहपुर विधानसभा के इंजीनियर कुमार शैलेंद्र ने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता गुवारीडीह टीले को कोसी कटा से बचाने का है. उन्होंने कहा कि पुरातात्विक महत्व वाले इस टीले के बारे में ग्रामीणों से जानकारी मिली है कि यह किला करीब 25 एकड़ का हुआ करता था लेकिन कोसी कटाव के कारण अभी यह टीला मात्र 3 एकड़ क्षेत्र में बचा हुआ है. अगर इसे संरक्षित नहीं किया गया तो पुरातात्विक महत्व वाला यह टीला जल विलीन हो जाएगा. विधायक ने कहा कि मामले में जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता अनिल कुमार समेत अन्य वरीय पदाधिकारियों से बात की गई है जल्द ही जल संसाधन विभाग की टीम स्थलीय सर्वेक्षण करेगी. उन्होंने कहा कि वैसे भी एक बड़ी आबादी को कटाव से सुरक्षित करने के लिए उक्त स्थल पर कटाव निरोधी कार्य करवाया जाना जरूरी है.

विधायक ने चलाया सर्च अभियान

ग्रामीणों के साथ गुवारीडीह टीले को देखने गए विधायक इंजीनियर कुमार शैलेन्द्र ने ग्रामीणों के साथ सर्च अभियान चलाया. सर्च अभियान में कई तरह के जीवाश्म, मृदभांड के टुकड़े, पुराने ईंटो को विधायक ने खुद इकट्ठा भी किया. विधायक ने कहा कि यहां पर पूरा अवशेष बिखरे पर है. उन्होंने आज तक ऐसा पुरातात्विक स्थल नहीं देखा था. इस मौके विधायक समेत ग्रामीण अविनाश कुमार, पैक्स अध्यक्ष विकास कुमार, अंकित कुमार, भाजयुमो जिलाध्यक्ष रूपेश कुमार रूप,बिहपुर के पूर्व प्रमुख मनोज कुमार,पूर्व मुखिया प्रतिनिधि महेशवर सिंह निषाद, उपमुखिया प्रतिनिधि राजेश सिंह, अखलेश, विपीन साहेब, राजू, बबलू, सुधीर, शंकुत, कुमार गौरव, विमलेश, शंभु व ललीत अन्य भी थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *