" />
Published On: Sat, Oct 13th, 2018

नवगछिया : एनकाउंटर के दौरान पसराहा दारोगा आशीष सिंह शहीद, दियारा में छिपा था दिनेश मुनि-Naugachia News

नवगछिया : देर रात दियारा में गूंजती गोलियों की तड़तड़ाहट से लोग खौफजदा हो गये. थानाध्यक्ष की मौत के बाद पुलिस ने पूरे इलाके में बड़ा ऑपरेशन शुरू किया है और गहन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

खगड़िया जिले का दियारा देर रात गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा. पुलिस के निशाने पर था दिनेश मुनि नाम का एक कुख्यात अपराधी. पुलिस को देर रात सूचना मिली थी कि दिनेश मुनि अपने साथियों के साथ दियारा इलाके में छिपा है. इस खुफिया जानकारी के मिलते ही पसराहा थाना अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह पूरे दल-बल के साथ मौके के लिए रवाना हो गये. खगड़िया के मौजमा गांव में रात तकरीबन 1:45 बजकर पुलिस का सामना अपराधियों से हुआ.

दियारा इलाका होने के कारण आशीष कुमार सिहं अपनी टीम को ट्रैक्टर पर लेकर मोजमा गांव पहुंचे थे. पुलिस की टीम जैसे ही वहां पहुंची दिनेश मुनि गैंग ने उनपर हमला बोल दिया. रात के सन्नाटे में दोनों तरफ से जोरदार फायरिंग हुई. इस दौरान आशीष कुमार सिंह को गोलियां लगी, उन्हें तुरंत अस्पताल लाया गया जहां उनकी मौत हो गई.

इस घटना में एक सिपाही भी घायल हुआ है. घायल सिपाही का नाम दुर्गेश पासवान है. उसे बेहतर इलाज के लिए भागलपुर रेफर कर दिया गया है. सूत्रों के मुताबिक इस एनकाउंटर में अपराधी दिनेश मुनि भी मारा गया है. हालांकि अभी तक उसका शव बरामद नहीं हो सका है. पुलिस के मुताबिक ये घटना खगड़िया और नवगछिया के सीमा क्षेत्र के दियारा इलाके की है. घटना के बाद खगड़िया एसपी मीनू कुमार ने पूरे दल-बल के साथ इलाके में छापेमारी शुरू कर दी है. दिनेश मुनि गैंग के गुर्गों को गिरफ्तार करने के लिए खगड़िया और नवगछिया में सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

बता दें कि दिनेश मुनि खगड़िया का कुख्यात अपराधी है, उसके ऊपर हत्या, लूट, डकैती और अपहरण के दर्जनों मामले दर्ज हैं. खगड़िया समेत आसपास के दूसरे जिलों में भी उसके खिलाफ मामले दर्ज हैं. 6 महीने पहले दिनेश मुनि के गुंडों ने खगड़िया में एक बस को लूट लिया था. इस मामले में भी पुलिस को उसकी तलाश थी.

 Video

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......