" />
Published On: Mon, Jun 17th, 2019

ज्योतिष : आद्रा नक्षत्र का प्रवेश 22 जून को.. में बारिश का योग और चंद्र-सूर्य का योग बनेगा

आद्र्रा नक्षत्र में होगी बारिश

ज्योतिषाचार्य मार्कण्डेय शारदेय के मुताबिक 22 जून को आद्र्रा चढ़ेगा। यह नक्षत्र बारिश का है। स्त्री-पुरुष और चंद्र-सूर्य का योग बनेगा। आद्र्रा में ही बारिश के आसार हैं।

पुनर्वसु नक्षत्र में होगी झमाझम बारिश

ज्योतिषी इंजीनियर प्रशांत कुमार ने बताया कि 20 जून से वर्षा आरंभ होगी। आद्रा नक्षत्र का प्रवेश 22 जून को मीन लग्न में हो रहा है। मगेश शनि होने पर वर्षा में कमी हो जाती है। छह जुलाई को पुनर्वसु नक्षत्र की शुरुआत होगी इसमें ज्यादा बारिश होने की संभावना है। पुष्य नक्षत्र की शुरुआत 18 से 20 जुलाई के बीच होगी। साथ ही साथ मंगल का 23 जून से कर्क राशि में और बुध 8 जुलाई को कर्क राशि में वक्री होगा। इस दरमियान अच्छी वर्षा के संकेत मिल रहे हैं। सूर्य का 16 जून से बुध की राशि मिथुन में प्रवेश होने से आंधी-तूफान के संकेत भी हैं।

कम बारिश की आशंका

ज्योतिषाचार्य पूनम वैश्य की मानें तो वर्ष 2019 में वर्षा ऋतु में वर्षा की संभावना कम रहेगी। इस वर्ष की आद्र्रा प्रवेश कुंडली में मंगल ग्रह का सूर्य से आगे होने के कारण वर्षा की कमी रहेगी। वृहद पराशर होरा शास्त्र के अनुसार -आगे मंगल पीछे भान वर्षा होए ओस समान। हालांकि, लग्न जलीय है लेकिन इस वर्ष का जल स्तम्भ भी कम होने के कारण वर्षा की कमी रहेगी। वक्री शनि तथा वक्री बृहस्पति वर्षा में रुकावट लेकिन बृहस्पति जलीय राशि में तथा अमृत नाड़ी में होने के कारण जैसे ही मार्गी होंगे अच्छी वर्षा देंगे।

छह जुलाई के बाद अच्छी बारिश की संभावना

वैदिक ज्योतिषी धीरेंद्र कुमार तिवारी ने बताया कि देश की कुंडली के हिसाब से अभी चंद्रमा में गुरु की अंतर्दशा चल रही है। इसमें अन्य आर्थिक उपलब्धि के साथ सामान्य से बढ़िया बारिश के योग हैं। वैसे सूर्य के 8 जून से 22 जून तक मृगशिरा नक्षत्र में सामान्य वर्षा ही होगी। 22 जून से आद्रा नक्षत्र में सूर्य के प्रवेश के साथ बारिश की तीव्रता बढ़ेगी। अच्छी बारिश की 6 जुलाई के बाद ही आशा की जा सकती है।

सूर्य के आद्र्रा में होने से बारिश और नमी

ज्योतिषाचार्य पीके युग के अनुसार सूर्य के आकाशमंडल के 27 नक्षत्रों में छठे नक्षत्र आद्रा में प्रवेश होने से सामान्य बारिश होती है। इस नक्षत्र के स्वामी राहू हैं जबकि अधिपति रूद्र यानी शिव। राशि के स्वामी बुध व नक्षत्र स्वामी मिथुन हैं। आद्रा संस्कृत नाम है।

22 जून से शुरुआत

ज्योतिषाचार्य डॉ. राजनाथ झा ने पंचांगों के हवाले से बताया कि 22 जून के बाद बारिश की संभावना बन रही है। वहीं 4 जुलाई के बाद तेज बारिश का अनुमान है। हालांकि, बारिश सामान्य होगी। ग्रह-गोचरों के दृष्टिकोण से वर्षा का अभाव दिख रहा है।

गर्मी में हुई बढ़ोत्तरी

आचार्य राजनाथ झा के मुताबिक शनि व केतु के धनु राशि में साथ रहने से गर्मी में वृद्धि हो गयी है। इससे चक्रवात तूफान के साथ वातावरण में तपिश अधिक होगी। ज्योतिषी प्रशांत कुमार की मानें तो वर्तमान में प्रचंड गर्मी के लिए गुरु एवं शनि की वक्र दृष्टि भी जिम्मेवार है।

एक घर में चार ग्रहों के संयोग से 5 राशियों को लाभ

सितारों की दुनिया में शनिवार से गहमागहमी बढ़ेगी। एक साथ एक ही घर में चार ग्रहों का जुटान होगा। मिथुन राशि में सूर्य के साथ मंगल, बुध और राहू होंगे। इससे मिथुन में चार राशियों की युति से त्रिग्रही योग बनेगा। मिथुन में जहां मंगल,बुध और राहू पहले से बैठे हैं वहीं ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी शनिवार को विशाखा नक्षत्र व सिद्ध योग में सूर्य भी मिथुन में पहुंचे जाएंगे। ज्योतिचार्य डॉ. राजनाथ झा के मुताबिक शनिवार को सूर्य शुक्र की राशि वृष से बुध की राशि मिथुन में गोचर करेंगे। ज्योतिषी पंडित राकेश झा शास्त्री के मुताबिक सूर्य के राशि बदलने से मेष, वृष, सिंह, तुला व वृश्चिक राशियों को लाभ होगा।

राशियों पर प्रभाव

मेष : सफलतादायक, विदेश यात्रा और देशाटन
वृष : सुखद परिणाम, प्रसन्नता में वृद्धि
मिथुन : आर्थिक तंगी दूर होगी, व्यापार में विस्तार, शिक्षा में बेहतरीन अवसर
कर्क : परिस्थितियां बेहतर और लाभदायक, व्यापारी एवं महिलाओं के लिए चुनौतीपूर्ण
सिंह : आय की दृष्टि से बढ़िया, धैर्य और साहस की परीक्षा होगी
कन्या : कार्य-व्यापार में उतार-चढ़ाव, सामाजिक पद प्रतिष्ठा वृद्धि
तुला : साहस, पराक्रम वृद्धि, विदेश-तीर्थ यात्रा, सराहना, विद्यार्थी के लिए समय अनुकूल
वृश्चिक : स्वास्थ्य, मानसिक परेशानियों में कमी, नए अनुबंध या व्यापार में सुखद स्थिति
धनु : दांपत्य जीवन में कटुता, व्यापार में घाटा, विवाह के लिए अच्छा समय
मकर : कोर्ट-कचहरी के मामलों में विजय, शत्रु परास्त होंगे, व्यर्थ यात्राएं
कुंभ : शिक्षा प्रतियोगिता चुनौतीपूर्ण, शिक्षा और संतान संबंधी चिंता
मीन : मित्र और बड़े बुजुर्गों की मानसिक पीड़ा कम, संतान प्राप्ति का योग, मकान-वाहन के क्रय का संयोग

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

adv
error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......