" />

भागलपुर : जैन मुनि विप्रण सागरजी महाराज के सुसाइड के मामले को लेकर एक वीडियो तेजी से वायरल

बीते दिनों भागलपुर में दिगम्बर जैन मंदिर परिसर में जैन मुनि विप्रण सागरजी महाराज के सुसाइड के मामले को लेकर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वीडियो में विप्रन सागर जी महाराज और मंदिर के उपाध्यक्ष के बीच बहस हो रही है। महाराज उपाध्यक्ष को डांट रहे हैं। आरोप है कि घटना के बाद विप्रन सागर जी महाराज तनाव में थे। उसी कारण उन्होंने आत्महत्या की।

विप्रन सागर जी महाराज और मनीष जैन के बीच बहस का वीडियो वायरल
नयी कमेटी ने बुधवार को मीडिया के सामने विप्रन सागर जी महाराज और मनीष जैन के बीच हुए विवाद का वीडियो वायरल किया। वीडियो में विप्रन सागर जी महाराज और मंदिर के उपाध्यक्ष के बीच बहस हुई है। महाराज उपाध्यक्ष को डांट रहे है।

दरअसल पूरा विवाद कबीरपुर स्थित दिगम्बर जैन मंदिर में उपाध्यक्ष को लेकर है। आरोप है कि इसके उपाध्यक्ष मनीष जैन के कमेटी में अपनी मनमानी और धमकी भरे रवैये से सभी त्रस्त हैं। मंदिर प्रबंधक ने उपाध्यक्ष मनीष जैन पर स्वर्गीय विप्रन सागर जी महाराज को प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है।

पदभार देने को तैयार नहीं
मंदिर कमिटी का चुनाव 27 अक्टूबर को हुआ था। जिसमें बिहार राज्य दिगंबर जैन धार्मिक न्यास बोर्ड अध्यक्ष गोपाल जैन ने हस्तक्षेप कर अपने पुत्र मनीष जैन को अवैध तरीके से मंदिर कमेटी का उपाध्यक्ष घोषित कर दिया था। जिसका पुरजोर विरोध भी लोगों ने किया था, लेकिन कुछ बदलाव नही हो सका। इसके विरोध में 28 अक्टूबर को मंदिर परिसर में आमचुनाव हुआ और नयी कमेटी का गठन किया गया। लेकिन पूर्व कमेटी के उपाध्यक्ष मनीष जैन प्रभार देने को तैयार नहीं है। कमेटी के लोग अब इस समस्या के समाधान के लिए कानून की शरण मे जाएंगे।

मुद्दे को सुलझाने के लिए बैठक की
नयी कमेटी के सदस्यों ने इस मुद्दे को सुलझाने के लिए बुधवार को बैठक की। नयी कमेटी के उपाध्यक्ष बसंत जैन ने बिहार राज्य दिगंबर जैन धार्मिक न्यास बोर्ड के अध्यक्ष गोपाल जैन पर मनमाने ढंग से अपने बेटे मनीष जैन को मंदिर का उपाध्यक्ष बनाने का आरोप लगाया है। बैठक में बसंत जैन ने कहा कि मनीष जैन मंदिर में हमेशा मनमानी करता है। मंदिर प्रबंधक ने भी मनीष जैन पर धमकी देने का आरोप लगाया। मंदिर प्रबंधक ने उपाध्यक्ष मनीष जैन पर स्वर्गीय विप्रन सागर जी महाराज को प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने महाराज की आत्महत्या का कारण मंदिर में हो रहे अनियमितता को बताया है।

सचिव ने नयी कमेटी को सही बताया
बिहार विधि व्यवस्था विभाग के सचिव अखिलेश जैन ने न्यास बोर्ड अध्यक्ष के नाम से पत्राचार कर यह स्पष्ट किया है कि आमचुनाव होकर जो नयी कमेटी बनाई गयी है। पूर्व उपाध्यक्ष मनीष जैन पर आवश्यक कार्रवाई करने को कहा है।

मंदिर में मनीष ने किया घोटाला
नयी कमेटी के उपाध्यक्ष बसंत जैन, संयुक्त मंत्री संजीव कुमार जैन, सदस्य अजय कुमार, प्रकाश बंजातिया ने संयुक्त रूप से आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व उपाध्यक्ष मनीष जैन ने मंदिर के पैसे का भी दुरुपयोग कर बड़ा घोटाला किया है। उन्होंने बताया कि मनीष जैन स्वर्गीय विप्रन सागर जी महाराज के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था जिसके कारण विप्रन सागर जी महाराज तनाव में थे। उसी कारण उन्होंने आत्महत्या की।

उपाघ्यक्ष मनीष जैन ने इस पूरे विवाद पर कहा कि सारे आरोप बेबुनियाद है। पदभार देने के लिए कोई पत्र नहीं मिला है। आमचुनाव कब और कहां हुआ इसकी भी जानकारी नहीं है। महाराज जी द्वारा डांटने का एक वीडियो वायरल किया गया है। वह महाराज जी द्वारा समझाने का तरीका है। वे हमारे गुरु थे। उनका डांट-फटकार हमारे लिए आर्शीवाद है। –

बिहार राज्य दिगंबर जैन धार्मिक न्यास बोर्ड अध्यक्ष गोपाल जैन ने इस पूरे विवाद पर कहा कि नियमानुसार इसका चयन उपाध्यक्ष पद के लिए हुआ है। बिना जानकारी दिए आम चुनाव कर पदाधिकारियों का चुनाव कराया है। इस कारण इनकी मान्यता को न्यास बोर्ड ने मानने से इंकार कर दिया है।

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......