" />

जेईई) एडवांस में बिहार के छात्रों ने परचम लहराया, बिहारियों गर्व से सियन चौड़ा, जय बिहार

ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई) एडवांस में बिहार के छात्रों ने परचम लहराया है। रविवार को आईआईटी कानपुर की ओर से जारी रिजल्ट में पटना के प्रशांत कुमार गुवाहाटी जोन के टॉपर बने हैं। जोन के पहले पांच टॉपरों में से चार बिहार के हैं। छात्रा वर्ग की टॉपर भी पटना के अथमलगोला की प्रांजल है। प्रशांत को 150 वीं और प्रांजल को 3189वीं रैंक आई है। पटना के ही ऋषि रंजन को गुवाहाटी जोन में दूसरा स्थान मिला है।

ऋषि रंजन को 280वीं रैंक मिली है। दिव्यजीत बागची और चैतन्य श्रीवास्तव को क्रमश: चौथा और पांचवां स्थान मिला है। इन दोनों की ऑल इंडिया रैंकिग क्रमश: 325 और 413 है।
पंचकूला के प्रणव गोयल जेईई एडवांस में पूरे देश में 360 में 337 अंकों के साथ अव्वल रहे। प्रणव ने रुड़की जोन से परीक्षा दी थी। देश में दूसरे स्थान पर कोटा के साहिल जैन और तीसरे स्थान पर दिल्ली के कैलाश गुप्ता रहे। लड़कियों में दिल्ली की मीनल पारेख ने 318 अंकों के साथ बाजी मारी है। हालांकि ऑल इंडिया उनकी छठी रैंक है।

आईआईटी कानपुर ने जारी किया रिजल्ट, 1.55 लाख अभ्यर्थियों में से 18,138 अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए
गुवाहाटी जोन में पहले पांच में चार हैं पटना के छात्र, छात्रा वर्ग में पटना की प्रांजल जोन टॉपर
पंचकूला के प्रणव देश टॉपर, दूसरे स्थान पर कोटा के साहिल जैन व तीसरे स्थान पर दिल्ली के कलश

15 जून से सीटों की आवंटन प्रक्रिया शुरू होगी : देश की 23 आईआईटी में 15 जून से दाखिला शुरू हो जाएगा। इस बार आईआईटी में 779 सीटें छात्राओं के लिए रिजर्व की गईं हैं। चयनित अभ्यर्थियों को स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिला मिलेगा।

जेईई मेन के टॉपर सूरज कृष्णा को 49वीं रैंक : जेईई मेन में 360 में से 350 अंक लाकर विजयवाड़ा के सूरज कृष्णा ने टॉप किया था। जेईई एडवांस में उन्होंने ऑल इंडिया में 49वीं रैंक हासिल की है। उन्हें 360 में से 285 नंबर मिले हैं।

नि:शुल्क कोचिंग संस्थानों का भी बेहतर रिजल्ट : पटना में चलनेवाले नि:शुल्क कोचिंग में शामिल सुपर-30 ने 26, अभयानंद सुपर-30 और रहमानी-30 ने आठ-आठ विद्यार्थियों के सफल होने का दावा किया है। वहीं गया के पटवा टोली के रहनेवाले बुनकरों के पांच बच्चों ने जेईई एडवांस में सफलता हासिल की है।

कंप्यूटर साइंस में बीटेक करने की इच्छा : प्रशांत

गुवाहाटी जोन के टॉपर प्रशांत कुमार का कहना है कि उसे एनसीईआरटी से पढ़ाई करने में काफी मदद मिली। पढ़ाई में तल्लीनता ही रही कि दो सालों में सिर्फ दो दिन कोचिंग नहीं जा सका। जहानाबाद के मूल निवासी और जगदेव पथ में रहनेवाले मनोज कुमार सिंह और रंजू सिंह के बेटे प्रशांत कुमार ने इसी साल डीएवी (बीएसईबी) से 12वीं की है। उसे 12वीं में भी 97 प्रतिशत अंक आए थे। प्रशांत ने बताया कि उसने कोचिंग से मिले होमवर्क को हमेशा पूरा किया। पढ़ाई के दौरान बताए गए निर्देशों को फॉलो करता था। इस वजह से उसे सफलता मिली। हालांकि उसने अपनी सफलता का श्रेय मां को भी दिया है। प्रशांत कानपुर आईआईटी से कंप्यूटर साइंस में बीटेक करना चाहता है। उसके पिता मनोज डुमरांव पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में इंस्पेक्टर के रूप में तैनात हैं।

ऑनलाइन मॉडल सेट से करती थी प्रैक्टिस : प्रांजल

छात्रा वर्ग में गुवाहाटी जोन की टॉपर और ऑल इंडिया रैंक 3189 लाने वाली प्रांजल सिंह की सफलता का राज खूब प्रैक्टिस रहा है। वह बताती है कि उसने जेईई एडवांस की तैयारी के दौरान ऑनलाइन मॉडल सेट की प्रैक्टिस की। शिक्षकों ने भी इसमें काफी मदद की। इसलिए उसे सफलता मिली। प्रांजल के पिता शैलेंद्र कुमार सिंह सिविल इंजीनियर हैं। वहीं मां अर्चना सिंह घरेलू महिला हैं। प्रांजल सपरिवार अथमलगोला के छेदी सिंह टोला में रहती है। पटना में भूतनाथ रोड में रहकर पढ़ाई की। देहरादून घूमने के लिए गई प्रांजल ने फोन पर ही हिन्दुस्तान संवाददाता से बात की और अपनी सफलता की खुशी साझा की। प्रांजल ने अपनी पढ़ाई के बारे में बताया कि वह हर रोज 10 से 12 घंटे पढ़ती थी। उसकी इच्छा आईआईटी दिल्ली में दाखिला लेने की है। विभाग का चुनाव अभी नहीं किया है। प्रांजल ने 12वीं डीएवी (ट्रांसपोर्ट नगर) से 10 सीजीपीए से पास की, वहीं 12वीं में उसे 96.6 अंक आए थे।

About the Author

- न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे....

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: भाई जी कॉपी नय होतोन .......